Loading...

शिक्षकों को भी 10, 20, 30 वर्षों में समयमान वेतनमान दिया जाए: शिक्षक कांग्रेस | MP NEWS

मंडला। जिला के प्रभारी मंत्री माननीय तरुण भानोट जी, वित्त मंत्री मध्यप्रदेश शासन के मंडला प्रवास पर मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस मंडला द्वारा सर्किट हाउस में जाकर गर्मजोशी से स्वागत किया गया।बता दें कि मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस हमेशा से पहले कर्तव्य फिर अधिकार के सिद्धांत पर शिक्षकों एवम शिक्षा से जुड़े मुद्दों को उठाते आया है।

विगत दिवसों में जब यह संगठन प्रांतीय सभा की बैठक में शिरकत करने गया था तब भी प्रभारी मंत्री जी से तथा जनजातीय कार्य मंत्री जी से सौजन्य भेंट कर जिले की ज्वलंत समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित किया था।जिसे कुछ शिक्षक कांग्रेसी राजनीति कर रहे है कहकर बदनाम करने का कुत्सित प्रयास किया गया।वित्त मंत्री जी से सर्किट हाउस मंडला में बहुत ही सौम्य वतावरण में जिला की शिक्षा व्यवस्था व शिक्षकों की समस्याओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई।चर्चा के दौरान ललित दुबे अध्यक्ष, विवेक शुक्ला कार्यकारी अध्यक्ष तथा राजकुमार सिंगौर सचिव ने माननीय प्रभारी मंत्री जी को अवगत कराया कि कांग्रेस पार्टी द्वारा चुनाव के समय प्रकाशित किये गए वचन पत्र की बातों को शीघ्र अमल में लाया जाए, पदनाम परिवर्तन को लेकर शिक्षकों में मायूसी है।

इस दौरान ज्ञापन भी दिया गया।जिसमें प्रमुख मांगें थी, शिक्षकों को भी 10,20,30 वर्षों में समयमान वेतनमान दिया जाए,सातवें वेतनमान की दूसरी किश्त का भुगतान, अतिथि शिक्षकों की जुलाई में भर्ती, जिला स्तर के स्थानांतरण ऑफ लाइन हों, विभागीय पदोनत्ति प्रारम्भ की जाए,पूर्व से कार्य कर रहे ऐसे अधीक्षक जिनका कार्य व्यवहार अच्छा है उन्हें यथावत रखा जाए,तीन वर्ष से अधिक समय से एक ही पद व शाखा में जमे कार्यपालिक अधिकारियों व कार्यालयीन स्टॉफ को बदला जाए,सेवापुस्तिकाओं का सत्यापन विशेष केम्प लगवाकर किया जाए। प्रतिनिधिमंडल में अखिलेश चंद्रोल,शेल दुबे, अनिल मरकाम,अनिल अग्रवाल,डी सी वंसकार,पचलू सिंह भारतीया भी सम्मलित थे।