Advertisement

सामूहिक दुष्कर्म: पति की जान बचानी थी इसलिए घंटो सही दरिंदगी | NATIONAL NEWS



राजस्थान। राजस्थान के अलवर जिले में पति को बंधक बनाकर पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म (Gang rape) और वीडियो वायरल (Video viral) करने के मामले को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने कहा है दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। मीडिया से उन्होंने कहा कि मामले को गंभीरता से लेते हुए DGP को खुद जांच की निगरानी करने और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मामले में प्रयागपुरा निवासी 22 वर्षीय इंद्रराज गुर्जर (IndraRaj Gurjar) को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक अन्य युवक मुकेश गुर्जर (Mukesh Gurjar) को वीडियो वायरल करने के मामले में पकड़ा गया है। 

इससे पहले मामले में मंगलवार शाम 5 पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। आरोप है कि थानागाजी थाना पुलिस ने 2 मई को केस दर्ज किया, लेकिन चुनावों के कारण घटना को दबाए रखा। लापरवाही बरतने के आरोप में थानागाजी थाने के प्रभारी सरदार सिंह को निलंबित किया गया, जबकि ASI रूपनारायण, सिपाही राम रतन, महेश कुमार और राजेंद्र को लाइन हाजिर कर दिया गया। मंगलवार देर शाम को ही प्रदेश सरकार ने एसपी राजीव पंचार को भी हटा दिया। हालांकि ऐसा करने के पीछे कार्मिक विभाग ने प्रशासनिक कारण बताया। 

डीजीपी कपिल गर्ग ने जयपुर में पुलिस मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि मामले में एक आरोपी इंद्रराज गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी आरोपी नामजद कर लिए हैं और जल्द गिरफ्तार होंगे। उन्होंने मामले को दबाने की बात से इनकार किया। हालांकि उन्होंने कहा कि थाने में 29 पुलिस कर्मचारियों का स्टाफ है। सभी पुलिस कर्मचारियों की जांच की जाएगी। इसके लिए एक टीम का गठन किया गया है। मामला 26 अप्रैल का है और 30 अप्रैल को एसपी को जानकारी मिली थी। वहीं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन लाल सैनी का कहना है मामले को दबाए रखने के लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं। उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। 

दहशत की कहानी

पीड़िता ने घटना के बारे में बताते हुए कहा कि वह 26 अप्रैल को दोपहर 3 बजे पति के साथ शॉपिंग के लिए बाइक पर गांव लालवाड़ी से तालवृक्ष जा रही थी। थानागाजी-अलवर बाइपास रोड पर दुहार चौगान वाले रास्ते से कुछ दूरी पर 5 युवकों ने उनकी बाइक के आगे अपनी 2 बाइक लगाकर रोक लिया। आरोपी युवक 20 से 25 साल की उम्र के थे। युवक महिला और उसके पति को जबरन रेत के बड़े टीलों की तरफ ले गए। वहां पति से मारपीट की और बंधक बना लिया। बाद में पांचों युवकों ने महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया।

पीड़िता ने बताया कि आरोपी उसके साथ 3 घंटे तक दरिंदगी करते रहे। साथ ही कुल 11 वीडियो लीक करने की धमकी दी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पीड़िता का पति जयपुर में काम करता है, जबकि पत्नी अपने मायके में ही रहती है।

पीड़ित महिला के देवर ने बताया कि पांच आरोपियों ने दंपति को रेत के टीले के पीछे ले जाकर उनके कपड़े उतरवाए और वीडियो बनाए। मेरे भाई को डंडों से पीटा, जब भाभी ने बचाने की कोशिश की तो उन्हें भी पीटा। पति को बचाने के लिए वे दरिंदगी सहती रहीं। पांचों आरोपियों ने एक-एक कर उनके साथ दुष्कर्म किया। उन लोगों ने दो हजार रुपये भी लूट लिए।

घटना के बाद से ही भाई-भाभी सदमे में थे और परिवार को 3 तीन दिन बाद जानकारी दी। आरोपियों में से एक ने फोन कर फिरौती मांगी और वीडियो वायरल करने की धमकी दी। फिर सोमवार को आरोपियों ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर दिया।

पीड़िता ने अपनी लिखित शिकायत में बताया है कि युवक एक-दूसरे को नाम से पुकार रहे थे, जिसमें छोटे लाल उर्फ सचिन, जीतू और अशोक थे। अन्य युवकों के नाम की जानकारी नहीं है। पति ने बताया कि इनमें आरोपी छोटेलाल गुर्जर (Chhotlal Gurjar Banasur) गांव कराणा थाना बानसूर और अशोक गुर्जर बानसूर (Ashok Gurjar Banasur) का रहने वाला है और इन्होंने बार-बार फोन कर वीडियो वायरल करने की धमकी देने के लिए फोन किए। उन्होंने 30 अप्रैल को 10 हजार रुपये भी वसूले। लेकिन जब आरोपियों ने दोबारा पैसों की मांग की तो पीड़ित मदद के लिए पुलिस के पास पहुंचे।