कांग्रेस ने शिवराज सिंह को बादाम, आई ड्राप व पतंजलि का च्यवनप्राश दिया | MP NEWS

Advertisement

कांग्रेस ने शिवराज सिंह को बादाम, आई ड्राप व पतंजलि का च्यवनप्राश दिया | MP NEWS

भोपाल। लोकसभा चुनाव में किसान कर्जमाफी पर शिवराज सिंह विरुद्ध कमलनाथ का 20-20 मैच जारी है। आज कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने शिवराज सिंह चौहान के निवास पर जाकर याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम, च्यवनप्राश व दृष्टि दोष दूर करने के लिए आंखों की दवाई (आई ड्राॅप) उनके निवास जाकर उनके लिये, उनके स्टाफ को भेंट दिये और निवेदन किया कि अब वे फुर्सत में इसका निरंतर उपयोग करें। जिससे उन्हें कांग्रेस सरकार के जन हितेषी निर्णय दिखने लगेंगे और झूठे आरोप लगाना वह बंद करेंगे। 

21 लाख किसानों की लिस्ट दे दी, फिर भी झूठ बोल रहे हैं

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि किसानों की कर्ज माफी को लेकर भी शिवराज सिंह प्रतिदिन झूठ परोसकर किसानों को भ्रमित व गुमराह कर रहे हैं। बार-बार कह रहे हैं कि एक भी किसान का कर्ज माफ नहीं हुआ। उनके इस सफेद झूठ को देखते हुए कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने कल उन्हें 21 लाख कर्जमाफी वाले किसानों की सूची उनके निवास जाकर उनके हाथों में सौंपी थी और उम्मीद की थी कि शायद इस सूची को देखने के बाद वह अब कर्ज माफी पर झूठ बोलना बंद कर देंगे। लेकिन बड़े ही आश्चर्य की बात है कि जैसे ही कांग्रेस के नेता उन्हें सूची सौंपकर गए, शिवराज सिंह चैहान कर्ज माफी पर फिर झूठ बोलना चालू हो गए।

चमचमाते बाजार में लालटेन लेकर घूम रहे थे शिवराज सिंह

अब कहने लगे मुझे कांग्रेस के नेताओं ने जो सूची सौंपी है वह कृषि विभाग की सूची है, बैंक की सूची नहीं है। जबकि वास्तविकता यह है कि कल सौपी सूची में किसानों के नाम, पते, बैंक का नाम, माफ की गई राशि से लेकर सारे प्रमाण स्पष्ट रूप से दर्ज है। उसके बाद भी यदि शिवराज सिंह चौहान इस तरह की बात कह रहे हैं तो निश्चित तौर पर उन्हें दृष्टि दोष हो गया है। अभी 1 दिन पूर्व भी वे हाथ में लालटेन लेकर, रोशनी वाले मार्ग पर निकल गए। पूरे रास्ते दुकानों में, चौराहों पर लाइट जल रही थी और वह हाथ में लालटेन लेकर कह रहे थे कि प्रदेश में लालटेन युग आ गया जबकि मध्य प्रदेश में बिजली सरप्लस मौजूद है। बिजली का कोई संकट प्रदेश में नहीं है।

शिवराज सिंह ने खुद ही आदेश दिया था कि 5.00 बजे के बाद हेलीकाप्टर लेंडिंग नहीं होगी
कभी छिंदवाड़ा में हेलीकाप्टर के लैंडिंग को लेकर आरोप लगाते हैं कि कमलनाथ सरकार के इशारे पर मुझे हेलीकाप्टर लैंडिंग की अनुमति नहीं दी गयी। जबकि उन्हीं के कार्यकाल में उन्हीं के द्वारा 17 सितंबर 2010 को 5.00 बजे तक की लैंडिंग की अनुमति वाला आदेश निकाला गया था। लेकिन आरोप लगाने के पूर्व वह यह सच्चाई भूल गए।

कोई योजना बंद नहीं हुई, झूठ बोलते जा रहे हैं

कभी कहते हैं कि सरकार ने भावन्तर योजना बंद कर दी, कभी कहते हैं अंतिम संस्कार के पैसे बंद कर दिए, कभी कहते हैं कि संबल योजना बंद कर दी। जबकि यह सब झूठ है। कोई योजना बंद नहीं हुई है। इसी से समझा जा सकता है कि सत्ता जाने के बाद उन्हें दृष्टि दोष होने के साथ-साथ उनकी याददाश्त में भी कमी आई है। इसलिए कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम, चवनप्राश व दृष्टि दोष दूर करने के लिए आंखों की दवाई (आई ड्राॅप) उनके निवास जाकर उनके लिये, उनके स्टाफ को भेंट दिये। और निवेदन किया कि अब वे फुर्सत में इसका निरंतर उपयोग करें। जिससे उन्हें कांग्रेस सरकार के जन हितेषी निर्णय दिखने लगेंगे और झूठे आरोप लगाना वह बंद करेंगे। 

इस अवसर पर नरेन्द्र सलूजा, भूपेन्द्र गुप्ता, रवि सक्सेना, जे.पी.धनोपिया, आनंद तारण, विवीयन खोंगल, अवनीश बुंदेला, पंकज शर्मा सहित अन्य कांग्रेसजन उपस्थित थे।