Advertisement

IIT JEE की फ्री Online Coaching मप्र के 313 स्कूलों में चल रहीं हैं | EDUCATION NEWS



जबलपुर। आईआईटी जेईई (IIT JEE) जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं (Competitive examinations) की तैयारी कर रहे 11वीं, 12वीं के छात्रों को स्कूल शिक्षा विभाग ने कोटा के प्रशिक्षित शिक्षकों के जरिए वर्चुअल क्लास के माध्यम से ऑनलाइन कोचिंग (Online coaching) देने की व्यवस्था की। प्रतियोगी परीक्षाओं को देखते हुए आयुक्त लोकशिक्षण ने गर्मी की छुट्टियों में 1 मई से जिले के उत्कृष्ट व ब्लॉक स्तरीय मॉडल स्कूलों में वर्चुअल (इंटरनेट से संचालित) क्लास शुरू करने के निर्देश दिए। साथ ही छात्रों की उपस्थिति सुनिश्चित करने की हिदायत भी दी।

आयुक्त के निर्देश पर स्कूलों में वर्चुअल क्लास तो खोली दी, लेकिन आईआईटी, जेईई की तैयारी कर रहे छात्र कोचिंग लेने पहुंचे ही नहीं रहे क्योंकि छात्रों को पता ही नहीं कि शिक्षा विभाग कोटा के एक निजी इंस्टीट्यूट के अनुभवी शिक्षकों के जरिए उन्हें ऑनलाइन कोचिंग की सुविधा दिलवा रहा है।

ऐसी है फ्री कोचिंग की सुविधा

आयुक्त लोकशिक्षण जयश्री कियावत ने 30 मई 2018 को सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर 11वीं, 12वीं के इच्छुक छात्रों को आईआईटी, जेईई, नीट की कोचिंग दिलाने के निर्देश दिए। पत्र में कहा गया कि जिला व ब्लॉक के मॉडल स्कूलों में वर्चुअल क्लास संचालित कर ग्रीष्मकालीन अवकाश में 1 मई 2018 से सुबह 8 से 12 बजे तक कोचिंग दिलाई जाए। इसके लिए वर्चुअल शिक्षक की 100 रुपए प्रतिदिन मानदेय के हिसाब से ड्यूटी लगाने भी कहा गया। निर्देश में साफ किया गया कि कोचिंग के लिए छात्रों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए।
- वर्चुअल क्लास में इंटरनेट के माध्यम से क्लासें संचालित की जाती हैं। भोपाल के स्टूडियो से कोटा के एक इंस्टीट्यूट के शिक्षक प्रदेश के सभी 313 स्कूलों में एक साथ कोचिंग दे रहे हैं।

जिम्मेदारों ने नहीं दिया ध्यान, वर्चुअल क्लास में सन्नाटा

आयुक्त लोकशिक्षण की चिट्ठी के बावजूद जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय व जिले के उत्कृष्ट विद्यालय सहित ब्लॉक के 7 मॉडल स्कूल प्राचार्यों ने ध्यान नहीं दिया। न तो छात्रों तक इसकी जानकारी पहुंचाई न ही इसका प्रचार-प्रसार किया। नजीता यह हुआ कि गर्मियों में वर्चुअल क्लासेस तो खुल रही हैं, शिक्षक को रोजाना 100 रुपए के हिसाब से मानदेय भी मिल रहा। लेकिन छात्र नहीं आ रहे हैं।

अब जेईई एडवांस परीक्षा 27 को, तब ली सुध

- विदित हो कि उत्कृष्ट विद्यालय सहित कुंडम, शहपुरा, सिहोरा, पनागर, पाटन, मझौली ब्लॉक के मॉडल स्कूलों में वर्चुअल क्लासेस संचालित की जा रही है, लेकिन जानकारी के अभाव में छात्र कोचिंग लेने पहुंच ही नहीं रहे।
- अब जब प्रतियोगी परीक्षाएं खत्म हो गई तब जिम्मेदारों ने सुध ली है। कहा जा रहा है कि जेईई एडवांस की परीक्षा 27 मई को है। लिहाजा सरकारी स्कूलों के अलावा निजी स्कूलों के बच्चों को भी कोचिंग दिलाई जाएगी।

कोटा के एक इंस्टीट्यूट के माध्यम से वर्चुअल क्लास के जरिए कोचिंग दिलाई जा रही है। इसमें छात्र नहीं पहुंच रहे। सरकारी स्कूलों के अलावा अब निजी स्कूलों के छात्रों को भी कोचिंग दिलाने के प्रयास किए जा रहे हैं।
अजय दुबे, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन