Loading...

दिल्ली में गर्ल्स हॉस्टल में आग लगी 6 लड़कियों की हालत बिगड़ी | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। दिल्ली के जनकपुरी में एक गर्ल्स हॉस्टल में आग लगने का मामला सामने आया है. सुबह 3 बजकर 5 मिनट पर दमकल विभाग को एक फोन आया, जिसमें A1/175 स्ठित कावेरी गर्ल्स हॉस्टल में आग लगने की बात कही गई. इसके लिए मौके पर फायर ब्रिगेड की 3 गाड़ियों को रवाना किया गया. आग हॉस्टल के बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर और में लगी, बताया जा रहा है कि आग बेसमेंट की एंट्री पर बने इलैक्ट्रिक पैनल में लगी. इसके लिए मौके पर मौजूद फायर ब्रिगेड ने बचाव कार्य शुरू कर दिया, जिसमें 50 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है.  

इनमें से 5 लोगों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है. इन लोगों को धुएं से सांस लेने में दिक्कत हो गई थी, जिनका इलाज चल रहा है. बता दें कि अभी कुछ दिनों पहले ही गुजरात के सूरत में आग लगने की बड़ी दुर्घटना सामने आई थी. गुजरात के सूरत में एक कोचिंग सेंटर में हुए अग्निकांड में 20 से ज्यादा बच्चों की जान जाने के बाद राजधानी दिल्ली में गैर कानूनी तरीके से सुरक्षा को ताक पर रखकर चलाए जा रहे कोचिंग को लेकर केजरीवाल सरकार और एमसीडी एक्शन मोड में आ गई थी. उसके बाद आज दिल्ली में गर्ल्स हॉस्टल में आग लगने का ये मामला सामने आया है.

सूरत जैसी स्थिति से बचने के लिए केजरीवाल सरकार और MCD ने कोचिंग मालिकों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है जो बिना सुरक्षा मानकों के दिल्ली में अपनी कोचिंग क्लास चला रहे हैं. इसके अलावा केजरीवाल सरकार ने ऐसी किसी भी अनहोनी को रोकने के लिए सोमवार को इमारतों से संबंधित कई आदेश जारी किए हैं. दिल्ली सरकार के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों के साथ बैठक के बाद नए निर्देश जारी किए.

इसके मुताबिक अब किसी भी इमारत की छत पर रसोई बनाना या वहां रसोई से संबंधित किसी भी क्रियाकलाप पर पूरी तरह से बैन है. सिर्फ इमारत की छत ही नहीं, बल्कि उसके बेसमेंट के हिस्से में भी अब खाना बनाने या रसोई बनाने पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाया गया है. दिल्ली सरकार के नए दिशा निर्देशों के मुताबिक अब किसी भी इमारत की छत पर किसी भी तरह के ज्वलनशील पदार्थ के संग्रह पर रोक रहेगी, जिसमें पेट्रोल-डीजल भी शामिल हैं.