Loading...

गूगल क्रोम पासवर्ड मैनेजर क्या होता है, यह कैसे काम करता है | TECH NEWS

पासवर्ड (PASSWORD) इन दिनों दुनिया का सबसे कीमती शब्द है। 'पासवर्ड' वो शब्द है जिसमें आपकी सारी जिंदगी बंद है। सोशल मीडिया अकाउंट से लेकर बैंक अकाउंट (BANK ACCOUNT) तक और यदि आप नौकरियों के लिए अप्लाई (JOB APPLY) कर रहे हैं तो आप दर्जनों जगह पासवर्ड यूज करते हैं। विशेषज्ञ कहते हैं कि हर अकाउंट के लए नया युनीक पासवर्ड बनाएं परंतु झंझट यह है कि इतने सारे पासवर्ड याद कैसे रखें तो यह काम गूगल क्रोम पासवर्ड मैनेजर करता है। 

कया काम करता है गूगल क्रोम पासवर्ड मैनेजर | What does Google Chrome Password Manager do

डेटा हैकिंग से बचने का सबसे अच्छा तरीका है सिक्योर व यूनीक पासवर्ड क्रिएट करना, जिन्हें आप सेंट्रली कंट्रोल कर सकते हैं। गूगल क्रोम में एक बिल्ट-इन पासवर्ड मैनेजर होता है जिससे आपको थर्ड-पार्टी सॉफ्टवेयर की जरूरत नहीं पड़ती। गूगल पासवर्ड मैनेजर के कई फायदे हैं, जैसे तेजी से रजिस्ट्रेशन करना और प्रत्येक अकाउंट के पासवर्ड को यूनीक बनाना। 

ऑटो डिटेक्शन फैसिलिटी | Auto Detection Facility

ऑनलाइन सर्विसेज का रजिस्ट्रेशन स्पीड से करने के लिए क्रोम का ऑटोफिल फीचर लंबे समय से काम आ रहा है, लेकिन इससे भी एक कदम आगे है पासवर्ड मैनेजर। यह स्वत: ही जान लेता है कि आप किसी नौकरी या परीक्षा के लिए साइन अप और पासवर्ड ऑफर कर रहे हैं। आपको अलग से पासवर्ड मैनेजर लोड करने और एक मुश्किल कोड बनाने की जरूरत नहीं होगी। जैसे ही आप पासवर्ड फील्ड में क्लिक करेंगे, क्रोम यह काम कर देगा। 

हर अकाउंट के लिए नया यूनीक पासवर्ड | New unique password for each account

आपको हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि कभी भी मल्टीपल टाइम्स में एक ही पासवर्ड का उपयोग नहीं करना चाहिए, अन्यथा कोई दूसरा आपके एक से अकाउंट्स को एक्सेस कर सकता है। इस रिस्क को मिनिमाइज करने के लिए अलग-अलग काम के रजिस्ट्रेशन में यूनीक व सिक्योर पासवर्ड डालें। यह सुविधा क्रोम पासवर्ड मैनेजर देता है। क्रोम मैनेजर की ओर से जेनरेट किया हुआ हर पासवर्ड यूनीक होता है और यह दो अलग-अलग अकाउंट्स के लिए एक समान पासवर्ड कभी नहीं देता। 

यह पासवर्ड गाइडलाइन्स के हिसाब से चलता है 

कोई भी नया जेनरेट किया हुआ पासवर्ड आमतौर पर इस फॉर्मेट को फॉलो करता है। कम से कम एक लोअरकेस कैरेक्टर, एक या अधिक अपरकेस कैरेक्टर्स और कम से एक नंबर या संख्या। ये तीनों एक मजबूत पासवर्ड के मानक प्रतीक माने जाते हैं। आप जिस साइट में रजिस्ट्रेशन कर रहे हैं और उसमें सिम्बल्स जरूरी हैं, तो पासवर्ड मैनेजर उसको भी डिटेक्ट करने के साथ-साथ जरूरत पड़ने पर उनको शामिल भी कर देगा।