Loading...

MP NEWS | 1 मंत्री, 2 कलेक्टर, 1 एसपी की चुनाव आयोग से शिकायत

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश सरकार के मंत्रियों एवं अधिकारियों द्वारा आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत निर्वाचन आयोग से की है। मुख्य निर्वाचन आयुक्त एवं प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को की गई शिकायतों के माध्यम से पार्टी ने दोषी मंत्री एवं अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। आज की गईं शिकायतों में मध्यप्रदेश के 1 मंत्री, 2 कलेक्टर एवं 1 एसपी की शिकायत की गई है। इसके अलावा सीहोर कलेक्टर द्वारा दिग्विजय सिंह को नोट बांटने के मामले में दी गई क्लीनचिट की कॉपी मांगी हैं 

मंत्री ने कहा चुनाव बाद सबको सरकारी वकील बना दूंगा

भारतीय जनता पार्टी ने मुख्य चुनाव आयुक्त एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी भोपाल को की गई शिकायत में कहा है कि प्रदेश सरकार के विधि मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने गोविन्दपुरा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा है कि चुनाव के बाद आना सबको सरकारी वकील बना देंगे। शिकायत में कहा गया है कि मंत्री शर्मा का उपरोक्त कथन आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है इसलिए श्री पी.सी.शर्मा के विरूद्ध योग्य कार्यवाही की जाए।

सिवनी के कलेक्टर/एसपी ने कांग्रेस नेताओं के साथ मीटिंग की, खाना खिलाया

भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधिमंडल द्वारा चुनाव आयोग को सौंपी गई शिकायत में कहा गया है कि सिवनी के जिला कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह अढायच एवं पुलिस अधीक्षक श्री ललित शाक्यवार ने आदर्श आचार संहिता के प्रभावशील होने के पश्चात सिवनी सर्किट हाउस में श्री सुखदेव पांसे मंत्री, श्री मोहन चंदेल सिवनी वि.सभा के कांग्रेस प्रत्याशी, श्री ठाकुर रजनीश जी केवलारी वि.सभा के कांग्रेस प्रत्याशी,श्री इमरान पटेल नगर कांग्रेस अध्यक्ष,  जिला कांग्रेस के प्रवक्ता राजिक अकील, श्री देवीसिंह चैहान घुमक्कड़ जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष, श्री इब्राइम कुरैशी पूर्व पार्षद,  श्री संजय बघेल प्रदेश कांग्रेस के सचिव के साथ मीटिंग की। इस मीटिंग में कांग्रेस पदाधिकारी अधिकारियों को पार्टी हित में काम करने के लिए निर्देश देते रहे, जिन्हें दोनों अधिकारियों ने डायरी में नोट भी किया। इसके उपरांत जिला कलेक्टर सिवनी एवं पुलिस अधीक्षक ने कांग्रेस नेताओं के साथ सहभोज भी किया। इस भोजन का सारा खर्चा पी.डब्ल्यू.डी विभाग द्वारा उठाया गया। शिकायत में कहा गया है कि कलेक्टर श्री प्रवीण अढायच एवं पुलिस अधीक्षक श्री ललित शाक्यवार निष्पक्ष मानसिकता के अधिकारी नहीं है, इसलिए किसी भी रूप में निर्वाचन कार्य के लिए योग्य नही है। पार्टी ने मांग की है कि ऐसी मानकिसता वाले कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को तुरंत निर्वाचन कार्य से पृथक किया जाए।

मुरैना कलेक्टर ने कांग्रेस प्रत्याशी के कहने पर दोषी सीईओ को क्लीनचिट दी

भारतीय जनता पार्टी ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त एवं मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को पत्र लिखकर मुरैना कलेक्टर प्रियंका दास को तत्काल रिटर्निंग ऑफिसर के पद से हटाने की मांग की है। पार्टी द्वारा लिखे गए पत्र में कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी द्वारा जनपद पंचायत कैलारस के सीईओ एमपी सिंह के रवैये के संबंध में कई बार शिकायतें की गई थीं। इन शिकायतों के बाद सीईओ एमपी सिंह के विरुद्ध जांच बैठाई गई थी। जांच अधिकारी देवरा के अनुविभागीय अधिकारी विनोद सिंह ने जांच में जनपद पंचायत सीईओ एमपी सिंह को दोषी पाया था। लेकिन जांच रिपोर्ट पहुंचने से पहले ही मुरैना की जिला कलेक्टर एवं लोकसभा चुनाव के लिए रिटर्निंग ऑफिसर प्रियंका दास ने मुरैना सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी रामनिवास रावत के दबाव में आकर दोषी जनपद पंचायत सीईओ को क्लीन चिट दे दी। पत्र में कहा गया है कि कांग्रेस प्रत्याशी के इशारों पर काम करने वाली रिटर्निंग ऑफिसर के रहते निष्पक्ष चुनाव की उम्मीद नहीं है, इसलिए उन्हें तत्काल हटाया जाए। इसके साथ ही पार्टी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि जांच अधिकारी विनोद सिंह की रिपोर्ट की जांच की जाए और दोषी जनपद पंचायत सीईओ एमपी सिंह के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए।

भाजपा ने सीहोर कलेक्टर के प्रतिवेदन की प्रतिलिपी मांगी

पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने मांग की है कि सीहोर कलेक्टर ने भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह को नोट बांटने वाले मामले में क्लीन चिट दी है, जबकि भारतीय जनता पार्टी द्वारा अपनी शिकायत के साथ संबंधित वीडियो भी आयोग को सौंपा गया था। पार्टी ने मांग की है कि इस मामले में कलेक्टर ने जो जानकारी आयोग को दी है और आयोग ने जो निर्देश जारी किए हैं, उनकी प्रतिलिपि पार्टी को उपलब्ध कराई जाए। पार्टी के प्रतिनिधिमंडल द्वारा आयोग को सौंपे गए पत्र में कहा गया है कि भाजपा की ओर से मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में अनेकों शिकायतें की गई हैं। उन शिकायतों के बारे में संबंधित विभागों द्वारा क्या जवाब दिए गए हैं, उनके बारे में आयोग ने क्या निर्देश दिए हैं, उनकी भी प्रतिलिपि पार्टी को उपलब्ध कराई जाए। पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल में श्री शांतीलाल लोढ़ा, श्री एस.एस. उप्पल, श्री रवि कोचर शामिल थे।