Loading...

मुख्य सचिव, गृहमंत्री और 3 प्रत्याशियों के खिलाफ BJP ने EC से शिकायत की | MP NEWS

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत निर्वाचन आयोग से की है। मुख्य निर्वाचन आयुक्त एवं प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को की गई शिकायतों के माध्यम से पार्टी ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। प्रतिनिधिमंडल में वरिष्ठ नेता श्री शांतिलाल लोढ़ा, प्रदेश प्रवक्ता श्री राहुल कोठारी, श्री रवि कोचर शामिल थे।

अजय सिंह, मधु भगत और मीनाक्षी नटराजन का नामांकन खारिज करने की मांग

प्रतिनिधिमंडल ने देश के प्रतिष्ठित समाचार चैनलों की खबर का हवाला देते हुए कहा कि 10 अप्रैल को समाचार चैनलों पर समाचार दिखाया गया था कि मध्यप्रदेश के कई ठिकानों पर आयकर छापों के बाद खुलासा हुआ कि मध्यप्रदेश के लोकसभा चुनाव हेतु सीधी से कांग्रेस के प्रत्याशी अजय सिंह, बालाघाट से कांग्रेस के प्रत्याशी मधु भगत और मंदसौर से कांग्रेस के प्रत्याशी सुश्री मीनाक्षी नटराजन को हवाला द्वारा गैर कानूनी तौर पर बड़ी राशि भेजी गयी। इस शिकायत से संबंधित टीवी चैनल पर प्रसारित खबरों की वीडियो सीडी भी प्रतिनिधिमंडल ने आयोग को सौंपते हुए कांग्रेस के तीनों प्रत्याशियों के नामांकन खारिज करते हुए उन पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

भाजपा प्रत्याशी को फांसी पर लटकाने की धमकी

प्रतिनिधि मण्डल ने शिकायत में कहा है कि बुधवार को मंडला में कांग्रेस नेता घनश्याम सूर्यवंशी ने सभा के दौरान भारतीय जनता पार्टी के मण्डला लोकसभा प्रत्याशी एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री फग्गनसिंह कुलस्ते को फांसी पर लटकाने की धमकी देते हुए कहा कि कांग्रेस चुनाव सम्पन्न होते ही श्री कुलस्ते को फासी पर लटका देगी। यह कथन कहते हुए कांग्रेस नेता ने श्री कुलस्ते के लिए अपशब्दों का प्रयोग किया। यह आदर्श आचार संधिता का घोर उल्लंघन है। प्रतिनिधिमंडल ने कांग्रेस नेता घनश्याम सूर्यवंशी पर कठोर कार्यवाही करने की मांग की है। शिकायत के साथ समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों की प्रतिलिपि भी चुनाव आयोग को सौंपी गयी है।

मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव वित्त की शिकायत

प्रतिनिधिमंडल ने शिकायत में कहा है कि आदर्श आचार संहिता के प्रभावशील होने के पश्चात किसानों के खातें में राशि जमा करने अथवा भुगतान की गई राशि के विरूद्ध नोड्यूस प्रमाण पत्र जारी करना आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है। मुख्य सचिव श्री मोहन्ती के निर्देश पर प्रमुख सचिव वित्त के निर्देशानुसार प्रमाण पत्र, सूचना पत्र जारी किये जाते है तो इससे यह स्पष्ट हो जाता है कि कांग्रेस पार्टी सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग खुलेआम किसानों को लुभाने के लिए और उनके पक्ष में मतदान करने के लिए कर रही है। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव वित्त विभाग के विरूद्ध आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की मांग की है।

बाला बच्चन और थाना प्रभारी राजपुर अनिल बामनिया के विरूद्ध कार्यवाही की मांग

श्री बाला बच्चन गृहमंत्री ने 6 अप्रैल को ग्राम मोयदा जिला-बड़वानी में कांग्रेस बैठक में राजपुर थाना प्रभारी अनिल बामनिया को दिशा-निर्देश दिये गये कि भाजपा कार्यर्क्ताओं के विरूद्ध अधिक से अधिक संख्या में अपराधिक प्रकरण बनाये जाये ताकि उन्हे मतदान के पूर्व जैल में भेजा जा सके। यह आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है। गृहमंत्री श्री बाला बच्चन और थाना प्रभारी राजपुर अनिल बामनिया के विरूद्ध आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के संबंध में कार्यवाही करने मांग करते हुए श्री अनिल बामनिया को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर निर्वाचन कार्य से पृथक किये जाने की मांग की। शिकायत के साथ समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों की प्रतिलिपि भी चुनाव आयोग को सौंपी गयी है।