Loading...

SBI: पेंशनर्स, वृद्ध नागरिक एवं दिव्यांग के लिए घर डोर स्टेप बैंकिंग की सेवा | BUSINESS NEWS

यदि आपकी रिटायर्ड कर्मचारी हैं एवं आपको पेंशन मिलती है और आपकी उम्र 70 साल से अधिक है या फिर आप दिव्यांग हैं एवं आपका खाता SBI में है तो अब आपको ब्रांच के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं। बैंक अधिकारी खुद चलकर आपके घर आएंगे और आपके सभी बैंकिंग काम पूरे करेंगे। 

एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए घर बैठे बैंकिंग सुविधा लॉन्च की है। इसके तहत कैश पिकअप और डिलीवरी की सुविधा मिलेगी। साथ चेक पिकअप की सुविधा भी बैंक देगी। साथ ही चेकबुक स्लिप, लाइफ सर्टिफिकेट और फॉर्म 15एच पिकअप की सुविधा भी मिलेगी। ये सुविधा एसबीआई की कुछ खास ब्रांच में मिलेगी। आप https://bank.sbi/ पर जाकर इन ब्रांच की लिस्ट चेक कर सकते हैं।

ये सेवा 70 साल से ज्यादा के उम्र के लोगों को मिलेगी। इसके अलावा दिव्यांग और दृष्टिबाधित लोगों को भी सुविधा मिलेगी। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि जिन ग्राहकों की केवाईसी पूरी है उन्हें ही ये सुविधा मिलेगी। इनका मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना चाहिए। इसके अलावा होम ब्रांच के 5 किलोमीटर के दायरे में ही ये सेवा मिलेगी।

डोर स्टेप बैंकिंग की सेवा ज्वाइंट अकाउंट, छोटे बच्चों के अकाउंट और नॉन पर्सनल अकाउंट को नहीं मिलेगी। पात्र ग्राहकों को इस सेवा के लिए फीस देनी होगी। अगर फाइनेंशियल ट्रांसैक्शन है तो 100 रुपए प्रति ट्रांजैक्शन देने होंगे। वहीं नॉन फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए 60 रुपए फीस देनी होगी। इसके लिए आपको अपनी होम ब्रांच में जाकर रजिस्टर करना होगा। दिव्यांग ग्राहकों को इसके लिए मेडिकल सर्टिफिकेट भी देना होगा।

एसबीआई देश का सबसे बड़ा बैंक है। इसकी देश भर में 22 हजार ब्रांच है। इसके अलावा बैंक के पास 58 हजार एटीएम का नेटवर्क भी है। एसबीआई की मोबाइल बैंकिंग सेवा का उपयोग करीब 6 करोड़ ग्राहक करते हैं।