Loading...

PM MODI के मेरठ भाषण के प्रमुख अंश, जिन्हे आप कॉपी-पेस्ट कर सकते हैं | QUOTES OF MODI IN HINDI

मत भूलिए ये वही लोग हैं जो तीन तलाक कानून का विरोध करते हैं। ये वही लोग हैं जो कहते हैं कि तीन तलाक की वजह से महिलाएं बच जाती हैं, ये कैसी मानसिकता है?
सिर्फ बोर्ड बदल लेने से दुकान नहीं बदलती। एसपी-बीएसपी के शासन की पहचान, यूपी के लोगों को दिया धोखा, उत्तर प्रदेश के लोग भूले नहीं हैं। एसपी के शासनकाल में हुए दंगों का दंश आप सभी अभी तक झेल रहे हैं।

2014 और 2017 में यहां के लोग इन्हें दिखा चुके हैं कि उत्तर प्रदेश को जातियों में बांटने की कोशिश अब सफल नहीं होगी। सब जान गए हैं कि जब देश बचेगा, तभी तो समाज भी बचेगा। इस बार भी यूपी की जनता का फैसला 2014 और 2017 से भी ज्यादा शानदार आने वाला है।
इन लोगों की राजनीति तभी चलती है जब देश कमजोर रहे, जब लोगों को ये बांटते रहे, समाज में खाई हो, ये सिर्फ अपना स्वार्थ देखते हैं, सबका साथ सबका विकास इन्हें मंजूर नहीं है। 

किसानों के लिए हमारी सरकार ने बहुत काम किए हैं। अभी किसानों की सहायता के लिए उनके खाते में भेजी गई पहली किस्त पहुंच गई है जिन किसानों के खाते में नहीं गई उनके खाते में भी जल्द पहुंच जाएगी।
ये लोग भारत को हमेशा कमजोर बनाकर रखना चाहते हैं। मैं इनसे जानना चाहता हूं कि किसके इशारे पर, किसको फायदा पहुंचाने के लिए आप लोग ऐसा ढुलमुल रवैया अपनाते रहे।

आज जब देश अपनी सामर्थ्य बढ़ा रहा रहा है, अपनी ताकत बढ़ा रहा और अंतरिक्ष में चौकीदारी कर रहा है तो कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा है।

मैं किसी तरह का बोझ नहीं रखता, क्योंकि मेरे पास अपना कुछ नहीं, जो कुछ है वो देश का दिया है। चिंता तो उसको होती है जो खोने से डरता है, जिन्हें वंश और विरासत का सोचना है।

मैं देश के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए तैयार रहने वाला व्यक्ति हूं। कोई भी राजनीतिक दबाव, कोई भी अंतरराष्ट्रीय दबाव, आपके इस चौकीदार को डिगा नहीं पाएगा और न कोई डरा पाएगा।

यूपी ने दो लड़कों का खेल भी देखा है। दो लड़कों के साथ से बुआ-बबुआ तक पहुंचने में जो तेजी दिखाई है वह हैरान करने वाली है।

जिस पार्टी के नेताओं को जेल भेजने के लिए बहन जी ने जीवन के दो दशक लगा दिए, अब उसी पार्टी के लोगों से बहन जी ने हाथ मिला लिया।

आज स्थिति ये है कि कुछ दिन पहले जो चौकीदार को चुनौती देते फिरते थे वो आज रोते फिरते हैं। मोदी ने पाकिस्तान को घर में घुसकर क्यों मारा, आतंकियों के अड्डे नष्ट क्यों किए, इन बातों पर रो रहे हैं।

कुछ बुद्धिमान लोग A-SAT की बात पर कन्फ्यूज हो गए। वे A-SAT को थिएटर वाला सेट समझ बैठे। अब आप ही बताइए ऐसे लोगों की बुद्धि पर रोएं या हंसे।

महामिलावटियों के राज में बेटियों को इंसाफ मिलता था क्या? इनकी सरकार में गुंडे और बदमास बेलगाम थे कि नहीं ? क्या इनकी सरकार में देश सुरक्षित रह सकता है? जब से यूपी में योगी जी की सरकार आई है तब से गुंडे बदमाशों में भय बना हुआ है।

मैं 130 करोड़ देशवासियों से पूछना चाहता हूं कि हमें सबूत चाहिए या सपूत चाहिए। जो सबूत मांगते हैं वो सपूत को ललकारते हैं।

26 फरवरी को हमारी सेना ने जो एयर स्ट्राइक किया था अगर उसमें कोई चूक होती तो ये लोग मेरा इस्तीफा मांगते, पुतला जलाते।

जब दिल्ली में इन महामिलावटी लोगों की सरकार थी, तो आए दिन देश के अलग-अलग कोने में बम धमाके होते थे। ये आतंकियों की भी जात और पहचान देखते थे और उसी आधार पर पहचान करते थे कि इसे बचाना है या सजा देनी है।

जमीन हो, आसमान हो, या फिर अंतरिक्ष सर्जिकल स्ट्राइक का साहस आपके इसी चौकीदार की सरकार ने करके दिखाया है।

लगभग 4 दशकों से हमारे सैनिक वन रैंक-वन पेंशन (OROP) मांग रहे थे, उसको पूरा करने का काम भी इसी चौकीदार ने किया। देश के करीब 12 करोड़ किसानों को 75 हज़ार करोड़ रुपए की सीधी वार्षिक सहायता देने का काम भी हमारी सरकार ने किया है।

हमारा विजन एक ऐसे नए भारत का है, जो अपने गौरवशाली अतीत के अनुरूप ही वैभवशाली होगा। एक ऐसा नया भारत जिसकी नई पहचान होगी, जहां सुरक्षा, समृद्धि और सम्मान के संस्कार होंगे।

देश पहली बार ऐसी निर्णायक सरकार देख रहा है जो अपनी संकल्प को सिद्ध करना जानती है। जमीन हो, आसमान हो या फिर अंतरिक्ष, सर्जिकल स्ट्राइकल का साहस आपकी इस चौकीदार की सरकार ने दिखाया है।

एक तरफ दमदार चौकीदार है तो दूसरी तरफ दागदारों की भरमार है।

आप सब जानते हैं कि चौकीदार कभी नाइंसाफी नहीं करता है। इसलिए हिसाब होगा, सबका हिसाब होगा और बारी-बारी से होगा।

5 वर्ष जब मैंने आप सभी से आशीर्वाद मांगा था तो आपने भरपूर प्यार दिया था, मैंने कहा था आपके प्यार को मैं ब्याज सहित लौटाऊंगा और जो काम किया है, उसका हिसाब दूंगा और साथ में दूसरों का हिसाब भी लूंगा।

2019 के चुनाव अभियान की शुरुआत मेरठ से शुरु करने की एक खास वजह है। 1857 में वही सपना, वही आकांक्षा दिल में लिए इसी मेरठ से स्वतंत्रता के आंदोलन का पहला बिगुला फूंका गया था।

हम सबके आदरणीय चौधरी चरण सिंह जी को मैं नमन करता हूं। चौधरी साहब देश के उन महान सपूतों में से हैं, जिन्होंने देश कि राजनीति को खेत खलिहानों और किसानों की और ध्यान देने के लिए बाध्य किया।

देश के लोग मन बना चुके हैं, देश में एक बार फिर मोदी सरकार बनने जा रही है।