Advertisement

चुनाव के समय घर बैठे पैसा कमाने का सुनहरा मौका | MAKE MONEY ON ELECTION TIME



नई दिल्ली। देश में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) शुरू हो गए हैं। सारा देश राजनीति में व्यस्त है। चुनाव के दौरान पैसा पानी की तरह बहाया जाता है। लोग कई तरह की कमाई करते हैं लेकिन ये कमाई केवल वही लोग कर पाते हैं जो चुनाव संबंधी काम करते हैं। कुछ लोग चुनाव पर सट्टा लगाकर घर बैठे कमाने की कोशिश भी करते हैं। म्यूचुअल फंड (mutual fund) के विशेषज्ञ कहते हैं कि चुनाव के समय आप भी घर बैठे मोटी कमाई कर सकते हैं और वो भी सट्टा जैसे गैरकानूनी धंधे (Illegal businesses) में पैसा लगाए बिना। 

महिंद्रा म्यूचुअल (Mahindra Mutua) के प्रबंध निदेशक (MD) और सीईओ आशुतोष बिश्नोई (CEO Ashutosh Bishnoi) का कहना है कि चुनाव के दौरान अर्थव्यवस्था (Economy) में भारी मात्रा में नकदी का प्रवाह होता है, जो अर्थव्यवस्था के पहिए को गतिशील कर देता है। ऐसे में जो लोग निवेश (Investment) करके पैसा बनाना चाहते हैं उनके लिए यह एक बेहतरीन मौका साबित हो सकता है। बिश्नोई ने कहा, 'नोटबंदी और जीएसटी (Notbandi and GST) के कारण अर्थव्यवस्था थोड़ी रुक सी गई थी। पहले तो लोगों के हाथ में पैसा नहीं था और फिर सप्लाई में भी कमी आ गई। तब कंज्यूमर डिमांड (Consumer Demand) जो रुक गई थीं, वो अब बहुत तेजी से आगे आ रही हैं। ऐसे में अब कंपनियों का मुनाफा भी बढ़ रहा है। पिछले छह महीने के कॉर्पोरेट रिजल्ट्स (Corporate results) देखकर यह समझा जा सकता है कि कई सेक्टरों में मुनाफा तेजी से बढ़ रहा है।'  

ELECTION को इंवेस्टमेंट के मौके के तौर पर देखना चाहिए

दूसरी तरफ कंपनियों की लागत घट रही है। तेल की कीमतें कम हो चुकी हैं, स्टील-कॉपर जैसी इंडस्ट्रियल कमॉडिटीज की कीमत अब तक के सबसे निचले स्तर पर है। ऐसे में आने वाले समय में भी कंपनियों की लागत घटेगी और मुनाफा बढ़ेगा। लिहाजा, यह समय अच्छी कंपनियों में निवेश के लिए बहुत अच्छा है। हर इंवेस्टर को चुनाव को इंवेस्टमेंट के मौके के तौर पर देखना चाहिए।' 

रेट कम होने का मतलब है कि आपके फंड की वैल्यू बढ़ रही है

आशुतोष ने कहा, 'अगर आप SIP में निवेश करते हैं, तो इसे बढ़ा भी सकते हैं। अगर हर महीने एक SIP कर रहे हैं और अगर आपके पास थोड़े और पैसे हों तो दो SIP डालने लगें। अगर डेट मार्केट यानी फिक्स्ड इनकम फंड्स (Fixed Income Funds) की तरफ देखें तो उसके रेट्स कम होते जा रहे हैं। रेट कम होने का मतलब है कि आपके फंड की वैल्यू बढ़ रही है। यह सिलसिला अभी चलता ही रहेगा।' 

6-8 महीने पैसा बनाने के लिए सबसे अच्छे हैं

उन्होंने कहा, 'अगले 6-8 महीनों में रेट बढ़ने की कोई संभावना नजर नहीं आ रही है। रेट घटने की ही संभावना ज्यादा है। अगर पिछले एक-दो सालों का कारपोरेट बॉन्ड फंड का रिटर्न देखें तो 11-12 फीसदी के करीब हो चुका है। लिक्विड फंड में भी 7.25-7.5 का रिटर्न मिल रहा है। इसमें तो रिस्क भी न के बराबर होता है। ऐसे में जो लोग लंबे समय के लिए मार्केट में हैं, वो अपना एसआईपी करते रहें।'