LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




48 लाख कर्मचारियों के लिए GOOD NEWS: शिक्षा प्रोत्साहन राशि में में पांच गुना वृद्धि | EMPLOYEE NEWS

18 March 2019

नयी दिल्ली। केंद्र सरकार ने नौकरी करते हुए ऊंची डिग्री हासिल करने वाले अपने कर्मचारियों को दिये जाने वाले एकमुश्त प्रोत्साहन में पांच गुना वृद्धि को मंजूरी दी है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने कहा कि पीएचडी जैसी ऊंची डिग्री हासिल करने वालों के लिए प्रोत्साहन की रकम को बढ़ाकर न्यूनतम 10,000 से अधिकतम 30,000 किया जाएगा। कार्मिक मंत्रालय ने कर्मचारियों के लिए इस तरह की प्रोत्साहन राशि बढ़ाने के वास्ते 20 साल पुराने नियम में संशोधन किया है। 

अब तक , नौकरी में आने के बाद उच्च डिग्री हासिल करने वाले सरकारी कर्मचारियों को एकमुश्त 2,000 रुपये से 10,000 रुपये के बीच प्रोत्साहन राशि दी जाती थी। अब न्यूनतम प्रोत्साहन राशि को दो हजार से पांच गुना बढ़ाकर दस हजार रुपये कर दिया गया है। कार्मिक मंत्रालय द्वारा हाल में जारी आदेश के मुताबिक, अब इस राशि को बढ़ाकर न्यूनतम 10,000 रुपये और अधिकतम 30,000 रुपये करने का फैसला किया गया है। आदेश में कहा गया है कि तीन साल या इससे कम की डिग्री / डिप्लोमा हासिल करने पर 10,000 रुपये दिए जाएंगे जबकि तीन साल से अधिक की डिग्री / डिप्लोमा के लिए 15,000 दिए जाएंगे। 

इसी तरह एक साल या कम की स्नातकोत्तर डिग्री / डिप्लोमा हासिल करने पर 20,000 रुपये और एक साल से अधिक की स्नातकोत्तर डिग्री / डिप्लोमा लेने वाले कर्मचारियों को 25,000 रुपये मिलेंगे। पीएचडी या उसके समकक्ष योग्यता हासिल करने वालों को 30,000 रुपये दिये जायेंगे। केन्द्र सरकार के दफ्तरों में करीब 48.41 लाख कर्मचारी हैं। 

नियम व शर्तें
आदेश में स्पष्ट किया गया है कि शुद्ध अकादमिक शिक्षा या साहित्यिक विषयों पर उच्च योग्यता प्राप्त पर कोई प्रोत्साहन नहीं दिया जाएगा। मंत्रालय ने कहा कि हासिल की गई योग्यता (डिग्री / डिप्लोमा) कर्मचारी के पद से जुड़ी होनी चाहिए या फिर अगले पद पर काम आने वाले कार्यों से जुड़ी होनी चाहिए। इसमें कहा गया है कि हासिल योग्यता और पद के कार्य के बीच सीधा संबंध होना चाहिए और इसका सरकारी कर्मचारी की दक्षता में योगदान होना चाहिए।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->