Loading...

चांदी बीमारियां दूर करती हैं, स्वास्थ्य हेतु अनिवार्य है, पढ़िए कैसे उपयोग करें | HEALTH TIPS

NEW DELHI: ज्योतिष और आयुर्वेद ( Astrology and Ayurveda ) में खनिज व धातुओं को मानव जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण बताया गया है। चांदी एक ऐसी धातु है जो मनुष्य को कई बीमारियों से मुक्त रखती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह चंद्रमा एवं शुक्र ग्रह ( Moon and Venus ) की प्रतिनिधि धातु है अत: इन ग्रहों से संबंधित शारीरिक रोगों को दूर करने का काम भी करती है। शास्त्रों में लिखा है कि चांदी धातु का उद्भव भगवान शिव शंकर के नेत्रों से हुआ है। आइए पढ़ते हैं चांदी के चमत्कार: 

बीमारी में लाभ के लिए चांदी का प्रयोग कैसे करें / How to use silver for the benefit of the disease

- चांदी का छल्ला कनिष्ठा उंगली में धारण करना सर्वोत्तम माना जाता है। इससे अशुभ चंद्रमा शुभ प्रभाव देना शुरू कर देता है और मन का संतुलन बहुत अच्छा हो जाता है।
- चांदी की चेन को गले में भी धारण किया जाता है। इसको धारण करने से वाणी शुद्ध हो जाती है और हमारे हार्मोंस संतुलित होने लगते हैं तथा वाणी और मन एकाग्र रहते हैं।
- शुद्ध चांदी का कड़ा धारण करने से वात पित्त और कफ नियंत्रित होते हैं और हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। हम बहुत जल्दी-जल्दी बीमार नहीं पड़ते।
- चांदी के गिलास या कटोरी में पानी पीने से सर्दी जुकाम और शीतजन्य रोग हमें नहीं सताते।
- चांदी की कटोरी या चम्मच से शुद्ध शहद का सेवन करने से शरीर विषमुक्त हो जाता है।
- शुद्ध चांदी के लोटे से दूध, दही, घी, शहद, शक्कर (पंचामृत) सोमवार के दिन भगवान शिव को अर्पण करने और ग्रहण करने से शरीर के रोग खत्म होते हैं। मन शांत हो जाता है और ग्रहों की अशुभ दशा हम पर दुष्प्रभाव नहीं डालती है।

चांदी के प्रयोग में किन-किन सावधानियों का पालन करें / What precautions should be followed in the use of silver

- चांदी जितनी शुद्ध हो उतना ही अच्छा होगा।
- चांदी के साथ सोना मिश्रित करके तब तक ना पहने, जब तक कि कोई ज्योतिष विशेषज्ञ इसकी सलाह ना दे। 
- सोने के अलावा चांदी में कोई अन्य धातु न मिलाएं।
- चांदी के बर्तनों को हमेशा साफ़ करते रहें, तभी उनका प्रयोग करें।
- जो लोग अति संवेदनशील स्वभाव के हैं, वो बिना परामर्श के चांदी के प्रयोग कतई ना करें।
- कर्क, वृश्चिक और मीन राशि वालों के लिए चांदी हमेशा उत्तम है।
- मेष, सिंह और धनु राशि के लिए चांदी बहुत अनुकूल नहीं होती।
- बाकी राशियों के लिए चांदी के परिणाम सामान्य हैं।
- कुछ विशेष दशाओं में ही किसी विद्वान की सलाह लेकर चांदी के साथ 4 धातुओं को मिलाकर पंचधातु बनाया जाता है और उसको शुभ समय पर धारण किया जाता है।

चांदी शरीर पर कैसे असर डालती है / How the silver affects the body

- शुद्ध चांदी के प्रयोग से मन मजबूत होने के साथ-साथ दिमाग भी तेज हो जाता है।
- शुद्ध चांदी का प्रयोग पीड़ित चंद्रमा को बल देता है और चंद्रमा शुभ प्रभाव देना शुरू कर देता है।
- चांदी का प्रयोग करके शुक्र को बलवान किया जा सकता है।
- सही और शुद्ध मात्रा में चांदी का प्रयोग करके शरीर में जमा विष को बाहर निकाल सकते हैं और हमारी त्वचा कांतिवान बन जाती है।