Loading...

BHOPAL NEWS: मंत्री आरिफ अकील, विधायक रामेश्वर शर्मा और आरिफ मसूल के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका

भोपाल। कमलनाथ सरकार के मंत्री आरिफ अकील, भोपाल में भाजपा के विधायक रामेश्वर शर्मा एवं कांग्रेस विधायक आरिफ मसूल के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर इनके चुनाव निरस्त करने की मांग की गई है। इनके के खिलाफ आपराधिक प्रकरण छिपाने और शपथ पत्र में छूठी जानकारी देने के मामले में उनकी विधायकी को हाईकोर्ट में याचिका लगाकर चुनौती दी गई है। 

इधर, याचिका की जानकारी जिला प्रशासन को बुधवार को मिल गई थी, गुरुवार को कलेक्टर डॉ. सुदाम पी. खाडे ने इन याचिकाओं का जवाब देने के लिए तीनों विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग ऑफिसर व एसडीएम को इनकी जिम्मेदारी सौंप दी है। भोपाल उत्तर विधानसभा क्षेत्र लिए आरओ केके रावत, भोपाल मध्य विधानसभा क्षेत्र के लिए आरओ वंदना जैन, हुजूर विधानसभा क्षेत्र के लिए आरओ राजकुमार खत्री खत्री को हाईकोर्ट में जवाब देना होगा। याचिकाकर्ताओं ने अपनी पिटीशन में बताया है कि तीनों विधायकों ने शपथ पत्र में अपनी संपत्ति, आपराधिक प्रकरण व अन्य जानकारियां छुपाईं हैं। इसलिए निर्वाचन शून्य करने की मांग की गई है।

भोपाल उत्तरः निर्दलीय प्रत्याशी रहे मुनेज ने अकील के खिलाफ लगाई याचिका
भोपाल उत्तर विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी रहे मुनेज उद्दीन ने मंत्री आरिफ अकील के खिलाफ याचिका लगाई है। इसमें कांग्रेसी विधायक आरिफ अकील द्वारा जमा किए गए नामांकन फार्म के साथ दिए गए शपथ पत्र में अधूरी जानकारी देने की बात कही है। मुनेज ने कहा है कि अकील के खिलाफ शाहजहांनाबाद थाने में अपराध क्रमांक -564/93 दिनांक - 6 नवंबर 1993 को धारा-307,147,148,149, 435,426 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था। अकील ने इस जानकारी को शपथ पत्र में दर्ज नहीं किया है। यह प्रकरण अकील पर पूर्व मंत्री रसूल अहमद सिद्दीकी के घर में गोली चलाने के चलते दर्ज किया गया था। उनके खिलाफ मारपीट के भी कई मामले दर्ज हैं, जिनका उल्लेख शपथ पत्र में नहीं किया गया है।

भोपाल मध्य विधायक आरिफ मसूद
राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी शमशुल हसन बल्ली ने कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के खिलाफ याचिका लगाई है। इसमें मसूल पर नामांकन फार्म के साथ जमा किए गए शपथ पत्र में अधूरी जानकारी देने की बात कही है। बल्ली ने कहा है कि मसूद ने शाहजहांनाबाद थाने में दर्ज आपराधिक प्रकरण के साथ साथ संपत्ति की जानकारी भी छुपाई है।

हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा
कांग्रेस उम्मीदवार नरेश ज्ञानचंदानी व कांग्रेस के ही नेता देवेंद्र दांगे ने अलग-अलग याचिकाएं हुजूर से भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा के खिलाफ लगाई हैं। देवेंद्र दांगे ने जहां शपथ पत्र में जानकारी छुपाने की बात कही है, वहीं नरेश ज्ञानचंदानी ने संपत्ति की जानकारी छुपाने के संबंध में याचिका लगाई है हालांकि दोनों कांग्रेसियों ने याचिकाओं में एक नहीं कई बिंदुओं पर विधायक को घेरा है। यही नहीं मतगणना के दौरान हुई गड़बड़ी को भी सामने रखा गया है।