LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




BHOPAL में डकैती, रिटायर्ड जीएम की पत्नी को बंधक बनाकर लूट ले गए | MP NEWS

21 February 2019

भोपाल। हथियारबंद पांच बदमाशों ने पिपलानी में मंगलवार को दिनदहाड़े भेल के रिटायर्ड जीएम के घर में डाका डाला और उनकी 69 वर्षीय बुजुर्ग पत्नी को बंधक बनाकर तीस हजार रुपए लेकर फरार हो गए। लेकिन मामले को दबाने के लिए पुलिस ने डकैती को लूट की धाराओं में दर्ज कर दिया। इस वारदात के बाद इलाके में जहां दहशत का माहौल है, वहीं शहर में अकेले रहने वाले सीनियर सिटीजन की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे हैं। हालांकि आईजी ने कहा कि अगर बदमाश पांच हैं तो डकैती की धारा बढ़ाएंगे।

पिपलानी में सी-सेक्टर इंद्रपुरी निवासी 73 वर्षीय विनोद कपूर भेल के रिटायर्ड जीएम हैं। मंगलवार की दोपहर विनोद कपूर खुद के इलाज के लिए करोंद स्थित शर्मा क्लीनिक में गए थे। इस दौरान उनकी पत्नी मीना (69) घर में अकेली थी। मीना ने बताया कि मैं घर में अकेली थी। इस दौरान दरवाजे पर दो लोग आए। मैंने उनसे पूछा कि क्या काम है। उन्होंने कहा कि मीटर की रीडिंग लेनी है। इस दौरान मेरा कुत्ता भौंक रहा था, तब बदमाशों ने कहा 'आंटी अपने कुत्ते को अलग रखिए'। तब मैंने चेन से कुत्ते को बांध दिया। इसके बाद घर में घुसते ही दोनों बदमाशों ने धक्का देकर मुझे जमीन पर गिरा दिया। उसके बाद तीन बार ताली बजाई तो उनके तीन और साथी घर में घुस गए। इस तरह बदमाशों की संख्या पांच हो गई। बदमाशों ने मेरी आंखें और मुंह बांध दिया। इसके बाद चाबी मांगी और पूछा कि अलमारी कहां है। अलमारी बताने पर वे उसमें से करीब 30 हजार रुपए लेकर भाग गए। यह राशि पति के इलाज के लिए रखी थी। देर शाम जब विनोद घर लौटे तो मीना ने उन्हें घटनाक्रम की जानकारी दी।

कान के टॉप्स और चेन भी लूटना चाहते थे
विनोद कपूर ने बताया कि बदमाशों ने उनकी पत्नी से जेवर लूटने की भी कोशिश की थी, लेकिन मीना ने अपनी अंगूठी निकालकर कहा था कि इसे ठेले से पांच रुपए में खरीदा है, ले जाना चाहते हो तो ले जाओ। इससे बदमाशों को लगा कि मीना की चेन और चूड़ियां भी नकली हैं। इस तरह जेवर बच गए।

बदमाशों के हाथ में चाकू थे, हत्या भी कर सकते थे
परिजनों का कहना है कि पांच बदमाशों का बुजुर्ग मीना कैसे मुकाबला कर सकती थी। जबकि बदमाशों के हाथ में चाकू थे। वे उनकी हत्या भी कर सकते थे। परिजनों का साफ किया कि घटना के बाद पुलिस उनका हालचाल तक पूछने नहीं आई है। जबकि पुलिस के अफसर थाने में सीनियर सिटीजन के लिए एक रजिस्टर रखकर उनका हालचाल पूछने के दावे करते हैं।

टीआई ने रिसीव नहीं किया कॉल
पुलिस ने मामले को दबाने के लिए पहले तो डकैती को लूट में तब्दील कर दिया है। जब संवाददाता ने घटना की जानकारी लेने के लिए मंगलवार रात पूरे सात मिनट तक पिपलानी टीआई राकेश श्रीवास्तव के सीयूजी नंबर पर कॉल किए तो मामला दबाने के लिए कॉल रिसीव नहीं किया गया।

किराएदारों को भी भनक तक नहीं लगी
रिटायर्ड जीएम ने घर में चार किराएदार रखे हुए हैं, जो ऊपरी मंजिल पर रहते हैं। लेकिन उन्हें भी घटना की भनक तक नहीं लगी थी। कपूर दंपती की तीन बेटियां हैं। इनमें से एक चीन, दूसरी दिल्ली और तीसरी बेटी भोपाल में रहती है। वह उनसे मिलने आती रहती है। दरअसल, कपूर दंपती की तबीयत अकसर खराब रहती है।

आरोपितों की तलाश जारी
पिपलानी में बुजुर्ग महिला के साथ वारदात के बाद मामले में एफआईआर में लूट की धारा लगी है। उसमें कुछ और उसमें आरोपित की संख्या ज्यादा है तो उसमें डकैती की धारा बढ़ा दी जाएगी। फिलहाल उसमें पुलिस लगातार आरोपितों की तलाश में लगी हुई है- 
जयदीप प्रसाद पुलिस महानिरीक्षक



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->