सिंधिया की प्रिय मंत्री गणतंत्र दिवस का भाषण भी नहीं पढ़ पाईं, कलेक्टर से पढ़वाया | GWALIOR MP NEWS

26 January 2019

भोपाल। यदि दमोह की बीएसपी विधायक रामबाई अपने विवादित बयानों के लिए सुर्खियां बटोर रहीं हैं तो ज्योतिरादित्य सिंधिया की कृपा से कैबिनेट मंत्री बनीं डबरा विधायक इमरती देवी भी कम नहीं हैं। शपथ ग्रहण के समय अपनी शपथ नहीं पढ़ पाईं थीं। अब गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहरण तो किया परंतु गणतंत्र दिवस पर भाषण नहीं पढ़ पाई। उनकी जगह कलेक्टर ने भाषण पढ़ा। 

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंत्री इमरती देवी अपने गृहनगर ग्वालियर जिला मुख्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बनवाया था। कार्यक्रम के दौरान उन्हें वहां मौजूद लोगों को संबोधित करना था। हालांकि जैसे ही वह पोडियम पर भाषण पढ़ने आईं, वह उसे पढ़ने में अटकने लगीं। पास ही खड़े कलेक्टर ने उनकी मदद करनी चाही, जिसके बाद मंत्री ने कलेक्टर को ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया और खुद नीचे उतर गईं। 

इमरती देवी इससे पहले भी सुर्खियों में रहीं
मंत्री पद की शपथ लेते समय भी अटक गईं थीं।
मंत्री बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को उन्होंने भगवान बताते हुए कहा कि वो रोज सिंधिया की पूजा करतीं हैं। 
गुना में सिंधिया के साथ आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सरकारी फाइलें देखकर मुझे नींच आ जाती है। 
कलेक्टर से स्पीच पढ़वाने के मामले में मध्य प्रदेश की मंत्री इमरती देवी ने कहा, 'मैं दो दिन से बीमार थी। आप चाहें तो डॉक्टर से पूछ लें। लेकिन ठीक है, कलेक्टर ने ठीक से पढ़ दिया।'



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Popular News This Week

 
-->