Loading...

DPS छात्रा की संदिग्ध मौत, स्कूल बस से उतरते ही बेहोश हो गई थी | BHOPAL NEWS

भोपाल। DPS / Delhi Public School / दिल्ली पब्लिक स्कूल की एक छात्रा की संदिग्ध मौत हो गई। कक्षा 3 मे पढ़ने वाली अनुषा सुबह जब स्कूल गई थी तो पूरी तरह स्वस्थ थी। हंसते हुए बाय करके गई थी लेकिन जब लौटकर आई तो बस से उतरकर मां की स्कूटी पर बैठते ही ही बेहोश होकर गिर गई। अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसके हाथ पर खंरोंच का एक निशान भी था। अब तक मृत्यु के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने स्कूल से सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं। 

इस तरह हादसे का शिकार हो गई मासूम
सौम्या एस्टेट अवधपुरी निवासी अवनेंद्र बरतरिया श्यामला हिल्स स्थित क्रिस्प में मैनेजर के पद पर हैं। अवधपुरी पुलिस के अनुसार उनकी 8 वर्षीय बड़ी बेटी अनुषा कक्षा तीसरी की छात्रा थी। शुक्रवार शाम 4 बजे पत्नी रश्मि बेटी को लेने एक्टिवा से विद्या सागर तिराहे पर पहुंचीं। अनुषा बस से उतरी और मां को बैग देते हुए एक्टिवा पर बैठ गई। मां बैग को एक्टिवा के आगे वाले हिस्से में रखने लगे। इसी दौरान अनुषा एक्टिवा से नीचे गिर गई। उन्होंने बेटी को उठाया, लेकिन शरीर में कोई हरकत नहीं थी।

बच्ची के हाथ में खरोंच के निशान, इसलिए कराया पीएम 
रश्मि पास के ही एक अस्पताल में अनुषा को ले गईं, लेकिन इलाज की सुविधा नहीं होने से डॉक्टरों ने उन्हें दूसरे अस्पताल ले जाने की सलाह दी। रश्मि दूसरे अस्पताल पहुंचीं, लेकिन वे बेटी की जान नहीं बचा पाई। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और अनवेंद्र भी अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। मामले की जांच कर रहे एएसआई अवधपुरी आरपी यादव के अनुसार बच्ची के हाथों में खरोंच जैसे निशान मिले हैं। इसी को देखते हुए पीएम कराया गया है।

पिता ने कहा- वह तो बहुत खुशी-खुशी स्कूल गई थी 
अवनेंद्र की दो बेटियों में अनुषा बड़ी थी। उनकी 5 साल की एक छोटी बेटी है। अवनेंद्र के अनुसार सुबह 8 बजे वे खुद उसे बस तक छोड़ने गए थे। वह खुश थी। उसने उनके साथ नाश्ता किया था। स्कूल बस में बैठने के बाद उसने हाथ हिलाकर बाय किया। शाम 4 बजे जब रश्मि उसे लेने पहुंचीं तो अनुषा बस से उतरते समय मायूस थी। ऐसा लग रहा था जैसे उसकी तबीयत खराब है। वह हमेशा एक्टिवा पर बैठते समय बैग लिए रहती थी, लेकिन शुक्रवार शाम बस से उतरते ही उसने रश्मि को बैग देते हुए कहा- मां इसे रख दो। 

रश्मि बैग रखने लगी और अनुषा एक्टिवा पर बैठ गई। उसके बाद वह नीचे गिर गई। मैं जानना चाहता हूं कि वह इतनी खुश होकर स्कूल गई थी, लेकिन लौटते समय ऐसा क्या हुआ कि वह मायूस थी। बीमार जैसी दिख रही थी। हमने स्कूल प्रबंधन से बस और कैंपस के अंदर के सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं।

हाथ के अलावा कहीं भी चोट के निशान नहीं
अब तक शॉर्ट पीएम रिपोर्ट नहीं मिली है। ऐसे में मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। हाथों पर मामूली खरोंच के निशान जरूर मिले हैं, लेकिन शरीर पर कहीं भी कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही कुछ पता चल पाएगा। 
मांगीलाल भाटी, टीआई अवधपुरी

कक्षा तीसरी की छात्रा अनुषा बरतरिया को सही-सलामत स्कूल से महिला कर्मचारी की निगरानी में शुक्रवार को नियमित बस स्टाप पर उतारकर उसे उसकी मां को सौंप दिया था। उस दौरान बच्ची ठीक थी। हम पूरी तरह पुलिस की जांच में सहयोग कर रहे हैं। बस और स्कूल कैंपस के सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को उपलब्ध करा रहे हैं। 
फैसल मीर खान, डायरेक्टर ऑपरेशन, 
Jagran Social Welfare Society (JSWS)