MPTET: 305000 पदों के लिए 6.75 लाख उम्मीदवार | mppeb news

23 November 2018

भोपाल। स्कूलों में शिक्षक बनने का सपना लेकर जिन्होंने वर्ग-2 और वर्ग-1 यानी माध्यमिक शिक्षक एवं उच्चतर माध्यमिक शिक्षक पद के लिए आवेदन किए हैं, वे तैयारियों में जुट गए हैं। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड से मिली जानकारी के अनुसार वर्ग-2 के लिए करीब 4.50 लाख और वर्ग-1 के लिए 2.25 लाख आवेदन आए हैं। वर्ग-2 में जहां 11374 पदों के लिए परीक्षा होना है, वहीं वर्ग-1 के लिए 19200 पद हैं। 

इन पदों के लिए आवेदनों के आधार पर देखा जाए तो माध्यमिक शिक्षक पद के लिए प्रति एक पद करीब 39 दावेदार परीक्षा देंगे। यानी यहां चयन के लिए मुकाबला कड़ा रहेगा। वहीं माध्यमिक शिक्षक यानी कि वर्ग-1 के लिए प्रति एक पद करीब 11 दावेदार रहेंगे। ऐसे में माध्यमिक शिक्षक के मुकाबले यहां पर अभ्यर्थियों में प्रतिभागिता काफी कम रहेगी। हालांकि दोनों ही वर्गों में कुल पदों में से 25 फीसदी पद अतिथि विद्वानों के रहेंगे। ऐसे में प्रति पद के विरुद्ध आवेदकों की संख्या कुछ ज्यादा भी अंतिम समय में हो सकती है। बहरहाल पीईबी के अधिकारियों से मिली जानकारी को देखा जाए तो साफ है कि उच्च माध्यमिक से ज्यादा प्रतियोगिता माध्यमिक शिक्षक के पद में होगी। दिलचस्प यह है कि हाईस्कूल में मिडिल स्कूल की तुलना में ज्यादा पद हैं, लेकिन यहां आवेदनों की संख्या मिडिल स्कूल से कम है। मिडिल स्कूल में पद कम हैं, लेकिन आवेदनों की संख्या काफी ज्यादा है। 

32 हजार होगा शिक्षकों का न्यूनतम वेतन 
बता दें कि हाई स्कूल वर्ग की परीक्षा 29 दिसंबर से शुरू होगी, वहीं मिडिल स्कूल शिक्षक के आवेदक अगले साल यानी 19 जनवरी 2019 से परीक्षा देंगे। दोनों ही पदों पर नियमित भर्ती होगी। मिडिल स्कूल शिक्षक का न्यूनतम वेतन 32 हजार 800+महंगाई भत्ता है, वहीं हाई स्कूल शिक्षक को 36 हजार 200+महंगाई भत्ता वेतन मिलेगा। 

आवेदन और पदों का गणित 
उच्च माध्यमिक वर्ग में 19 हजार 220 पदों पर भर्ती होगी। इनके लिए पीईबी को सवा दो लाख आवेदन मिले हैं। यानी प्रत्येक पद के लिए दस से ज्यादा उम्मीदवार किस्मत आजमाएंगे। उधर, माध्यमिक वर्ग में 11 हजार 374 पदों पर भर्ती होगी। इनके लिए साढ़े चार लाख आवेदन आए हैं। यानी प्रत्येक पद के लिए 39 से ज्यादा दावेदार होंगे। 30 हजार 594 पदों के लिए आयोजित हो रही परीक्षा में कट ऑफ हाई होगा। 

ग्रेजुएट युवाओं से बढ़ा आंकड़ा 
मिडिल शिक्षक भर्ती में बंपर आवेदनों के पीछे बड़ी संख्या में ग्रेजुएशन की डिग्री बड़ी वजह मानी जा रही है। जानकारों का कहना है कि पीजी के साथ बीएड धारक कम हैं। ग्रेजुएशन करने वालों की संख्या ज्यादा है। इसलिए हाई स्कूल कैटेगरी में मिडिल स्कूल की अपेक्षा कम आवेदन आए हैं। वर्ग-2 में दो वर्षीय डिप्लोमा (एजुकेशन) वालों ने भी आवेदन किया है। इस कारण भी मिडिल में आवेदन संख्या चार लाख को पार कर गई है। 

वर्ग-2 में कॉम्पीटिशन तगड़ा रहेगा 
Ãउच्च माध्यमिक और माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए आवेदन प्रक्रिया पूर्ण हो गई है। माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए जहां लगभग साढ़े चार लाख आवेदन आए हैं, वहीं उच्च माध्यमिक वर्ग में लगभग सवा दो लाख आवेदन आए हैं। इससे यकीनन कॉम्पीटिशन तो रहेगा। -एकेएस भदौरिया, परीक्षा नियंत्रक, पीईबी 

आवेदन और पदों का गणित 
उच्च माध्यमिक वर्ग में 19 हजार 220 पदों पर भर्ती होगी। इनके लिए पीईबी को सवा दो लाख आवेदन मिले हैं। यानी प्रत्येक पद के लिए दस से ज्यादा उम्मीदवार किस्मत आजमाएंगे। उधर, माध्यमिक वर्ग में 11 हजार 374 पदों पर भर्ती होगी। इनके लिए साढ़े चार लाख आवेदन आए हैं। यानी प्रत्येक पद के लिए 39 से ज्यादा दावेदार होंगे। 30 हजार 594 पदों के लिए आयोजितहो रही परीक्षा में कट ऑफ हाई होगा। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->