LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




MPPEB: आचार संहिता के नाम पर रिजल्ट अटकाए बैठे हैं | MP NEWS

08 November 2018

भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) ने 28 से 31 जुलाई तक प्रदेशभर में ग्रुप-4 की परीक्षा आयोजित की थी। इसके लिए 22 जून से 6 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन मंगवाए गए थे। 11 जुलाई तक आवेदन में संशोधन किया जा सका। परीक्षा परिणाम सितम्बर में आ जाना चाहिए था परंतु जारी नहीं किए और फिर आचार संहिता के नाम पर अटका रखे हैं। बोर्ड के अधिकारी यह बताने पाने में भी सक्षम नहीं है कि आचार संहिता की किस धारा के तहत परीक्षा परिणाम रोकने के आदेश हैं या जारी कर देने पर आचार संहिता का उल्लंघन हो जाएगा। 

पहले यह परीक्षा दो दिन ही होना थी, लेकिन आवेदकों की संख्या अधिक होने से चार दिन तक चली। इसमें इंदौर, भोपाल, उज्जैन, ग्वालियर सहित एक लाख 80 हजार से अधिक बेरोजगारों ने हिस्सा लिया। पहले ही दिन रिकॉर्ड 50 हजार युवाओं ने भाग्य आजमाया। परीक्षा दो शिफ्ट में संपन्न कराई गई। प्रथम शिफ्ट सुबह 9 बजे से 11 बजे एवं द्वितीय शिफ्ट की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक चली। आवेदक सहायक ग्रेड 3, स्टेनोग्राफर एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर के कुल 2714 पदों के लिए हुई परीक्षा के नतीजों का लंबे समय से इंतजार है। प्रतिभागियों के साथ ही उनके परिजन भी आस लगाए बैठे हैं। 

आचार संहिता की आड़ में कुछ और पक रहा है
पीईबी ने घोषणा की थी कि 15 सितंबर तक मेरिट लिस्ट जारी कर दी जाएगी। यानी 45 दिन में रिजल्ट घोषित करने का वादा था लेकिन 100 दिन बाद भी रिजल्ट जारी नहीं हुआ है। पीईबी के जिम्मेदार अधिकारी यह बताने की स्थिति में नहीं हैं कि नतीजे कब तक आएंगे। पीईबी के जिम्मेदार आचार संहिता की आड़ ले रहे हैं, जबकि परीक्षा के परिणाम से आचार संहिता का कोई लेना-देना नहीं है। एमपी पीएससी सहित अन्य परीक्षाओं के रिजल्ट आचार संहिता में ही आए हैं। 

जनरल का कट ऑफ सबसे अधिक होगा 
पीईबी ने नतीजे घोषित नहीं किए हैं लेकिन आंसरशीट और प्रतिभागियों की संख्या के अनुमान के आधार पर जानकारों का कहना है कि जनरल श्रेणी में पुरुष वर्ग का कट ऑफ मार्क्स सबसे अधिक 82-84 रहेगा। महिला वर्ग का कट ऑफ 80-82 जाएगा। ओबीसी का कट ऑफ क्रमश: 79-81 और 77-78, एससी का 76-78 और 72-74 तथा एससी वर्ग का कट ऑफ 70-72 और 64-66 मार्क्स रहने का अनुमान है। 

आचार संहिता के नाम पर रिजल्ट रोका 
पीईबी ने ग्रुप-4 का रिजल्ट 45 दिन में जारी करने की घोषणा की थी जबकि दोगुना समय बीत चुका है। हम लोग महीनेभर से पीईबी को फोन कर रहे हैं लेकिन संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा। जब पीएससी का रिजल्ट आचार संहिता में आ सकता है तो पीईबी का क्यों नहीं? 
जितेंद्र चौधरी, माया भारती, प्रिया अलावा, भीखालाल भिलाला (प्रतिभागी) 

फिलहाल कुछ कह नहीं सकते 
ग्रुप-4 परीक्षा का रिजल्ट कब तक आएगा, फिलहाल कुछ कह नहीं सकते। वैसे हमारी तैयारी पूरी है। दरअसल, आचार संहिता लगने से हर काम की चुनाव आयोग से परमिशन लेना पड़ती है। हमने आयोग से अनुमति मांगी है। जब वहां से जवाब आ जाएगा तो रिजल्ट जारी कर देंगे। 
केएस भदौरिया, एग्जाम कंट्रोलर, पीईबी 

चुनाव आयोग अब तक NOC नहीं दे पाया
ग्रुप-4 की परीक्षा के रिजल्ट को लेकर पीईबी ने हमें प्रस्ताव भेजा है, इसकी जानकारी निकलवाता हूं। जल्द ही इसका परीक्षण कराएंगे। रिजल्ट जारी करने में कोई तकनीकी समस्या नहीं होगी तो आयोग भी अनुमति दे देगा। इस बारे में संबंधित अधिकारियों से चर्चा की जाएगी। 
वीएल कांताराव, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, मप्र 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->