भाजपा: सीहोर में बगावत, टिकट बिकने का आरोप, निर्दलीय लड़ेंगे सक्सेना | MP NEWS

02 November 2018

सीहोर। भाजपा में बगावत की शुरूआत सीएम शिवराज सिंह चौहान के गृहजिले से हुई है। भाजपा के पूर्व विधायक रमेश सक्सेना ने ऐलान कर दिया है कि उनकी पत्नी निर्दलीय चुनाव लड़ेंगी। उनके ऐलानिया बयान का वीडियो वायरल हो रहा है। इससे पहले एक और वीडियो आया था जिसमें रमेश सक्सेना ने भाजपा पर टिकट बेचने के आरोप लगाए थे। वो कह रहे थे कि मप्र में 80 टिकट पैसे लेकर दिए जाएंगे। बोली 10 करोड़ से शुरू हो रही है। 

पहला वीडियो: भाजपा में टिकट की बोली
10 मिनट 43 सेकंड के इस वीडियो में सक्सेना अपने पास बैठे लोगों से बातचीत में कह रहे हैं कि पार्टी में टिकट की बोली लग रही है। बोली 10 करोड़ से शुरू हो रही है। भोपाल चले जाना। किसी भी नेता से पूछ लेना। पूरी पार्टी ने तय कर लिया है। सिर्फ शिवराज ने तय नहीं किया। अमित शाह की टीम का निष्कर्ष है। 116 सीटों में सरकार बन जाती है। 150 टिकट ऐसे लोगों को देते हैं, जो दमदारी से जीत रहे हैं। बाकी 80 टिकट ऐसे दिए जाते हैं, जिनका पैसा पार्टी फंड में चला जाए।

पार्टी में ऊपर से नीचे तक भ्रष्टाचार
अब पार्टी पहले जैसी नहीं रही। कुशाभाऊ ठाकरे 84 साल की उम्र में अपने हाथ से धोती धोते थे। सुंदरलाल पटवाजी मुख्यमंत्री होने के बाद भी खड़े रहते थे। ऐसी थी भाजपा। उन्होंने मुझे पार्टी में बुलाया था कि आजा तेरी जरूरत है। मैं अटलजी, आडवाणी जी के सिद्धांतों को देखकर पार्टी में आया था। आज परिस्थितियां विपरीत हैं। आज पार्टी में ऊपर से नीचे तक एकसूत्रीय कार्यक्रम चल रहा है, भ्रष्टाचार। जिन्होंने पार्टी बनाई है, उनकी पूछ नहीं है। हम लोग तो पार्टी में बाद में आए हैं। जो नेता जिंदा हैं, वे घर बैठे हैं। पार्टी भी खत्म हो गई और सिद्धांत भी।

कांग्रेस से लड़ने पर मेरा साथ कौन देगा
कार्यकर्ता को 15 साल से नहीं पूछा, इसलिए मैंने भाजपा से अलग होने का मन बना लिया है। कांग्रेस से मुझे ऑफर भी मिला है कि यदि मैं कांग्रेस से लड़ना चाहूं तो वहां गुंजाइश है। इसलिए मैं अपने खास लोगों से चर्चा कर रहा हूं कि कांग्रेस से लड़ने पर कौन साथ देगा और कौन नहीं। कुछ खास लोगों ने निर्दलीय लड़ने का मना कर दिया। उनका कहना है कि इस बार निर्दलीय लड़ने में ज्यादा फाइट होगी। प्रदेश में जो माहौल है, उसके हिसाब से कांग्रेस के वोट कांग्रेस को ही जाएंगे। इसलिए आप लोग साफ-साफ बता दें कि कांग्रेस से लड़ने पर मेरा साथ कौन देगा।

दूसरे वीडियो में खंडन किया 
बाद में पूर्व विधायक श्री सक्सेना ने दूसरा वीडियो जारी करते हुए पहले वीडियो की निंदा और खंडन किया है। दूसरे वीडियो में उन्होंने कहा कि मैं ग्रामीण क्षेत्र से अभी सीहोर लौटा हूं। मुझे पता चला है कि ऐसा कोई वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें मैंने पार्टी के लोगों पर आरोप लगाया है। उनके अनुसार वास्तव में ये चर्चा के दौरान ग्रामीण मुझसे पूछ रहे थे कि शहर में ऐसा वातावरण है। शहर में ऐसी चर्चा चल रही है कि करोड़ों में टिकट बिक रहा है। उसे रिपीट करते समय किसी ने जान बूझकर भ्रम फैलाने के लिए, मेरी छवि खराब करने के लिए उतनी बात काटकर वीडियो वायरल कर दिया। मैं इसकी घोर निंदा करता हूं। मैं बीजेपी में रह चुका हूं। मैंने आज तक टिकट के लिए किसी को एक पैसा तक नहीं दिया। बीजेपी में हमेशा सर्वे के आधार पर टिकट दिया जाता है।

तीसरे वीडियो में बगावत का ऐलान
इस बीच उन्होंने अब कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया है, पूर्व विधायक की पत्नि ऊषा रमेश सक्सेना यह चुनाव लड़ेंगी। एक वीडियो जारी कर उन्होंने कहा है कि मैं 20 साल कांग्रेस में रहा, 20 साल भाजपा में रहा और विधायक रहते और विधायक नहीं रहते हुए भी लोगों के लिए संघर्ष किया है। उन्होंने कहा मुझे जनता और किसानों का साथ और कार्यकर्ताओं का साथ हमेशा मिलता रहा है, इसलिए इस बार निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला किया है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com
-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week