BHOPAL: आचार संहिता के कारण फैल रहा है मौत का जीका संक्रमण | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में जीका संक्रमण तेजी से फैल रहा है। मरीजों की संख्या 85 पहुंच गई है। आचार संहिता के कारण सरकार दवाब में नहीं है और अधिकारी झूठी जानकारियां दर्ज करते जा रहे हैं। शहर में संक्रमण रोकने के लिए कोई कोशिश नहीं की जा रही है। 

शहर में जीका का संक्रमण 15 कॉलोनियों में पहुंच चुका है। नेशनल हेल्थ मिशन की एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है की प्रदेश में जीका पॉजिविट मरीजों का आकड़ा 85 पहुंच चुका है। जिसमें 5 गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग ने जिला मलेरिया अधिकारी भोपाल को सेकंड राउंड की एंटी लार्वा एक्टिविटी शुरू करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है भोपाल में 11 दिन में जीका बुखार के 31 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। भोपाल के अलावा विदिशा, सीहोर और सागर भी जीका से प्रभावित हो चुका है और प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा लगभग 85 हो गया है।

एनएचएम की रिपोर्ट के मुताबिक एक दिन में 24 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भोपाल में जीका प्रभावित कॉलोनियों की संख्या 15 हो गई है। एक सप्ताह पहले तक जीका प्रभावित कॉलोनियों की संख्या 5 थी। इसकी वजह जीका फैलाने वाले एडीज मच्छर के लार्वा बड़ी संख्या में कॉलोनियों में मौजूद होना बताया गया है। इसके अलावा जीका का संक्रमण बढ़ने की दूसरी वजह, जीका पॉजिटिव मरीजों का संपर्क सामान्य वायरल फीवर के मरीजों से होना है। इस कारण शहर में जीका प्रभावित मरीजों की संख्या कॉलोनियों में तेजी से बढ़ी है।