किन-किन समस्याओं में फायदेमंद है "सिंघाड़े का आटा", जानिए | water chestnut flour nutrition

11 October 2018

आज से नवरात्रि शुरू हो चुके हैं। इन नौ दिनों में व्रत रखने का बहुत महत्व है। कई लोग पहले दिन तो कुछ लोग पूरे 9 दिन व्रत रखकर मां की अराधना करते हैं। लेकिन किसी न किसी बड़ी और छोटी बीमारी से ग्रसित लोग भी उपवास रखना चाहते हैं तो ऐसे में उनका सवाल होता है कि उपवास में ऐसा क्या खाएं, जो उनकी सेहत के लिए अच्छा हो। तो हम आपको बता दें कि सिंघाड़े का आटा (waterchest nut flour) एक ऐसा फलाहारी खाना है, जो कई परेशानियों को दूर करता है। इसे खाने से एनर्जी तो मिलती है साथ ही कई रोगों के लिए बहुत फायदेमंद भी है। तो जानिए सिंघाड़े के आटे का सेवन करने से किन-किन बीमारियों (health benefits of singhara atta) को दूर किया जा सकता है। 

- बवासीर (piles) की समस्या से निपटने के लिए सिंघाड़ा फायदेमंद है। इसलिए बवासीर के मरीज उपवास के दौरान सिंघाड़े के आटे की रोटी या पुड़ी बनाकर खा सकते हैं। 
- अगर शरीर के किसी हिस्से में खुजली ( itching ) हो रही है तो सिंघाड़े के आटे में नींबू का रस मिलाकर उस जगह लगा लें, खुजली बंद हो जाएगी। 

- उपवास के दौरान गर्भवती महिलाएं( pragnent women) सिंघाड़े का आटा खा सकती हैं। ये उनके और बच्चे दोनों के लिए अच्छा होता है। इसे खाने से गर्भपात का खतरा कम रहता है साथ ही पेट संबंधी रोग भी नहीं होते। 
- अस्थमा के रोगी (asthama patients) अगर व्रत कर रहे हैं, तो ऐसे में सिंघाड़े का आटा उनके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है। एक चम्मच सिंघाड़े के आटे को पानी में मिलाकर खाने से अस्थमा में आराम मिलता है। 

- अगर आपके शरीर में कहीं भी सूजन है तो इसके आटे का पेस्ट बनाकर सूजन वाली जगह पर लगा लें। सूजन कम हो जाएगी।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->