जैन मुनि विप्रण सागर जी का शव मिला, पोस्टमार्टम हुआ | NATIONAL NEWS

भागलपुर। नाथनगर के चंपापुर दिगंबर सिद्ध क्षेत्र में मुनि श्री 108 विप्रण सागर जी महाराज के शव का बुधवार को जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों की बोर्ड ने पुलिस की जरूरी प्रक्रिया के बाद पोस्टमार्टम कर दिया। इसके बाद पुलिस ने मुनि के शव को सिद्ध क्षेत्र के प्रबंधन के सुपूर्द कर दिया। सिद्ध क्षेत्र में ही मुनि का विधि विधान से दाह संस्कार किया गया है। पोस्टमार्टम में मुनि के खुदकशी की बात सामने आई है। उनके शरीर के किसी भाग पर कोई चोट के निशान भी नहीं मिले हैं।

मोबाइल कॉल डिटेल भी खंगालेगी पुलिस
पुलिस का कहना है कि मुनि के मोबाइल नंबरों को भी खंगाला जाएगा। पुलिस अब पोस्टमार्टम के बाद इतने हाइ प्रोफाइल मामले को लेकर जांच में जुट गई है। पुलिस इस बिंदु पर जांच करेगी कि आखिर ऐसा कौन सा तनाव मुनि हो गया, जिस वजह से उन्होंने सिद्ध क्षेत्र में ही अपनी इहलीला खुद से समाप्त कर ली। पुलिस का कहना है कि कॉल डिटेल के आधार पर भी कुछ लोगों से इस मामले में पूछताछ होगी। हालांकि अभी कई लोगों से पुलिस ने प्रारंभिक पूछताछ औपचारिकतावश की है। मगर अनुसंधान के उद्देश्य से फिर उन लोगों से पुलिस पूछताछ करेगी। इसमें अंतिम कॉल करने वाले का पुलिस पता लगा रही है।

मुनि के कमरे में भरी हुई थी यंत्र और पुस्तक
जैन मुनि के कमरे की जांच में पुलिस को काफी संख्या में अलग अलग धर्म की पुस्तकें मिली है। इसके अलावा श्रद्धालुओं को देने के लिए रखा गया काफी संख्या में छोटा यंत्र भी था। सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने बताया कि मुनि के कमरे से बरामद सामनों की जब्ती सूची बनाई जाएगी। ताकि जांच में पुलिस को सहलूयत हो। हालांकि सिद्ध क्षेत्र प्रबंधन का कहना था कि मुनि के किसी भी वस्तु को जब पुलिस जब्त करे तो उसे कतई सार्वजनिक नहीं किया जाए। यह उनकी आस्था से जुड़ा हुआ है।

जांच होने तक कमरा रहेगा सील
सिद्ध क्षेत्र के जिस तीन नंबर कमरे में जैन मुनि ने रस्सी के सहारे फंदा लगाकर खुदकशी की थी। उस कमरे को ललमटिया पुलिस ने फिलहाल सील कर दिया। पुलिस का कहना है जांच के दौरान वहां सबूतों के साथ किसी तरह का छेड़छाड़ नहीं होगा। पुलिस ने सिद्ध क्षेत्र की चौकसी भी बढ़ा दी है। मुनि द्वारा खुदकशी की जानकारी होते ही काफी संख्या में मुनि के अनुयायी अलग अलग राज्यों से भागलपुर के लिए चले हैं। वे लोग लगातार अपने स्तर से इस मामले को लेकर जानकारी लेना चाह रहे हैं। इस मामले में पुलिस भी किसी तरह की लापरवाही नहीं बरतना चाहती है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com