जैन दीपावली: किस दिशा में मुख करें, कलश किस धातु का हो, दीपक में तेल कौन सा

29 October 2018

दीपावली का पूजन हर कोई पूरे विधि विधान से करना चाहता है। इसके लिए लोगों के मन में ढेर सारे सवाल होते हैं परंतु ज्यादातर पूजा विधियों में उन सवालों के जवाब नहीं होते। आचार्य अनेकांत सागर महाराज ने पुलक मंच परिवार द्वारा आयोजित ‘दीपावली कैसे मनाएं’ विषय पर बोलते हुए कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां दीं। 

जैन समाज के लिए यह दिशा निर्देश दिए गए हैं: 
कार्तिक कृष्ण अमावस पर सुबह भगवान महावीर को मोक्ष पद की प्राप्ति हुई थी। 
दिवाली पर भगवान के सामने उत्तर दिशा की ओर मुख कर पूजा करनी चाहिए। 
यानि यजमान का मुख उत्तर की ओर और भगवान का मुख दक्षिण की ओर होना चाहिए। 

पूजन में कलश सोने-चांदी या मिट्टी का स्थापित करना चाहिए। 
दीपक में तिल व सरसों तेल डालना चाहिए। 
भगवान महावीर और सरस्वती का पूजन करें। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week