LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




अधिकारी का कालाधन से लेकर CSP के वारंट तक MP की 6 BIG NEWS

11 October 2018

इंदौर नगर निगम के अधिकारी के पास मिली 15 करोड़ की संपत्ति | इंदौर। इंदौर नगर निगम के अधिकारी अभय सिंह राठौर के घर ईओडब्ल्यू ने छापा मारा। सहायक यंत्री राठौड 1995 से स्वचछता अभियान देख रहा था। अधिकारी के घर ईओडब्ल्यू को करोड़ों रुपए की संपत्ति मिली है। राठौर के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति और आर्थिक अनियमितता करने की शिकायत मिली थी। ईओडब्ल्यू की टीमों ने गुरुवार राठौर के सुबह स्कीम नंबर 78 , 94 बजरंग नगर और गुलाब बाग के ठिकानो पर कार्यवाही की। जांच में अधिकारी के पास से अभी तक 15 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है, जांच अभी जारी है। अधिकारी के पास प्लाट, एक कार का शो रूम और स्कीम 94 में प्लॉट भी मिला है। इसके अलावा अब तक 36 जीवन बीमा पालिसी भी मिले ही वहीं लॉकर भी मिले है जिनकी जांच की जा रही है ।

भोपाल: गरबा में डीजे रात 10 बजे तक 

भोपाल। आचार संहिता के चलते नवरात्र में रात 10 बजे के बाद ध्वनि विस्तार यंत्र (डीजे लाउड स्पीकर सिस्टम) का उपयोग नहीं हो सकेगा। हालांकि गरबे के आयोजन में किसी तरह की पाबंद नहीं होगी। इस संबंध में स्पष्ट आदेश बुधवार को जारी कर दिए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने रात 10 बजे के बाद ध्वनि विस्तार यंत्र के उपयोग पर रोक लगा दी हैं। कलेक्टर ने कहा कि 10 बजे के बाद आयोजन ढोल या संगीत साधनों पर गरबे करा सकते हैं।

भोपाल: गरबा डीजे पर पाबंदी का विरोध

इस फैसले को तमाम धार्मिक आयोजन समितियां मानने को तैयार नहीं हैं। झांकी समितियों का कहना है कि नवरात्र हिंदुओं का प्रमुख पर्व है। ऐसे में रात 10 बजे के बाद डीजे व लाउड स्पीकर न बजे ऐसा संभव ही नहीं हैं। क्योंकि, माता की आरती ही रात करीब 9 बजे होती है। झांकी समितियों का कहना है कि वे आचार संहिता का सम्मान करते हैं, लेकिन रात 10 बजे के बाद भजन कीर्तन न करें ये फैसला हम नहीं मानेंगे। वहीँ एडीएम व उप जिला निर्वाचन अधिकारी संतोष वर्मा ने कहा है कि आचार संहिता का सख्ती से पालन करवाया जाएगा। निर्वाचन आयोग की बगैर एनओसी लिए अगर कोई रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक तेज आवास में डीजे बजाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

भोपाल: गरीबा डीजे की शिकायत कहां करें

इस बार नवरात्रि पर आचार संहिता के उल्लंघन की सी-विजिल एप के माध्यम से लोग मोबाइल से फोटो वीडियो बनाकर भेजकर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। जिसकी निगरानी खुद भारत निर्वाचन आयोग करेगा। इस कारण प्रशासन चाहकर भी इन मामलों में अनदेखी नहीं कर सकेगा। 

दूसरे का प्लॉट गिरवी रखकर ले लिया एक करोड़ रुपए का लोन

भोपाल। एक शातिर शख्स ने अरेरा कॉलोनी स्थित एक महिला के प्लॉट की फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत कर रजिस्ट्री करा ली। हबीबगंज पुलिस के मुताबिक मिथिलेश पत्नी डीपी अग्रवाल (69), 74 बंगला स्थित निशात कॉलोनी में रहती हैं। उनके पति आयकर सलाहकार हैं। मिथिलेश ने एक लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। उसमें बताया कि मंजीत रावत नाम के व्यक्ति ने किसी कौशल्या नाम की महिला की मदद से उनके अरेरा कॉलोनी की लाला लाजपत राय सोसायटी स्थित प्लॉट नंबर ई-7-77 की फर्जी रजिस्ट्री करा ली। साथ ही रजिस्ट्री को इंडिया बुल्स फायनेंस कंपनी में बंधक रखकर एक करोड़ रुपए का लोन निकाल लिया है। घटना का पता 13 जुलाई-18 को तब चला, जब फायनेंस कंपनी के रिकवरी अफसर अभिनव गीते ने बकाया की वसूली के बारे में बताया। बताया जा रहा है उक्त प्लाट की मिथलेश के नाम असली रजिस्ट्री है। 

तीन हजार अवैध हथियारों पर चला पुलिस का बुलडोजर

सागर। मध्यप्रदेश के सागर जिले में बुधवार को अवैध हथियारों पर पुलिस ने नष्ट करने का कार्रवाई की। ये वह हथियार थे जो पुलिस ने छापामारी और अपराधियों से जब्त किए थे। सालों पुराने इन हथियारों पर आज बुलडोजर चलवा दिया गया। करीब 3 हजार से ज्यादा बंदूक, रिवाल्वर और पिस्टल नष्ट की गईं। तहसीलदार अजेंद्रनाथ प्रजापति और रक्षित निरीक्षक रणजीत सिंह सिकरवार की मौजूदगी में 30-40 साल बाद पुलिस लाइन में पहले बुलडोजर चलाकर हथियार नष्ट किये गए। फिर 11 फ़ीट गहरे गड्ढे में उन्हें दफन कर दिया गया। 

चुनाव आयोग: 158 कर्मचारियों की मेडीकल जांच के आदेश

रतलाम। चुनाव ड्यूटी से बचने जिले के 158 कर्मचारियों-अधिकारियों ने गंभीर बीमारी बताई है। जिला निर्वाचन विभाग मेडिकल बोर्ड से इनकी जांच करवाएगा। बोर्ड के सामने बीमारी के दस्तावेज पेश करना होंगे। गंभीर बीमारी नहीं निकली तो ड्यूटी देना होगा व कार्रवाई भी होगी।प्रशासन उनकी तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड से जांच करवाएगा। बोर्ड में सीएमएचओ, सिविल सर्जन तथा संबंधित बीमारियों के विशेषज्ञ शामिल रहेंगे। फिट होने पर ड्यूटी करना होगी, यदि जांच में दस्तावेज गलत होने के साथ गलत जानकारी देना पाया गया तो विभागीय कार्रवाई की जाएगी। 

व्यापमं: सीएसपी आकाश भूरिया का वारंट जारी

ग्वालियर। विशेष सत्र न्यायालय ने बालाघाट रेंज के आईजी को पत्र लिखकर सीएसपी आकाश भूरिया को गवाही के लिए कोर्ट में उपस्थित कराने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि अभी चुनाव शुरू नहीं हुए हैं। यह कौनसी ड्यूटी में व्यस्त हैं। पीएमटी का महत्वपूर्ण केस है, जो 2014 से लंबित है। इन्हें गवाही के लिए शीघ्र उपस्थित कराया जाए। साथ ही 5 हजार रुपए का जमानती वारंट जारी कर दिया। कोर्ट ने यह पत्र आईजी को सीएसपी आकाश भूरिया द्वारा भेजे गए मेल के जवाब में लिखा है। आकाश भूरिया ने मेल पर एक पत्र भेजा कि चुनाव में ड्यूटी लगी है। इसलिए गवाही के लिए नहीं आ सकता हूं। तारीख आगे बढ़ाई जाए।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->