सवर्ण समाज ने नेताओं का चेहरा काला कर सब्जी बेची: भारत बंद का विरोध | MP NEWS

10 September 2018

भोपाल। महंगाई के विरोध में कांग्रेस के बंद का ब्रह्म समागम जन कल्याण समिति,  प्रगतिशील ब्राह्मण संस्था, अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा, करणी सेना, सहित राजधानी भोपाल के सवर्ण समाजिक संगठनों ने भारत बंद का विरोध किया। ब्रह्म समागम संगठन के अध्यक्ष पंडित धर्मेन्द्र शर्मा कक्का जी के अनुसार जब 6 सितंबर को सवर्ण समाज द्वारा भारत बंद का राजनैतिक पार्टियों ने खुलकर साथ नही दिया तो हम इनका समर्थन क्यो करे। अखिल भारतीय ब्रह्मण महासभा के अध्यक्ष पुष्पेन्द्र मिश्रा का कहना है कि राम मंदिर और धारा 370 का मुद्दा छोडकर सरकार ने एससीएसटी एक्ट पारित कर दिया और सारे दलों के नेताओं ने हठधर्मिता दिखाकर इस काले कानून का ताली बजाकर समर्थन किया। 

इसके विरोध में सारे राजनेताओं पोस्टरों पर कालिख पोती है। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की जिलाध्यक्ष राखी परमार का कहना है कि बढती मंहगाई से जनता त्रस्त आज पेट्रोल, डीजल सहित आम उपभोग की वस्तुओं की कीमते आसमान छू रही है लेकिन सरकार ने एससी-एसटी अध्याधेश लाकर लोगों का ध्यान बांट दिया उन्होने आरोप लगाया कि सरकार जाति भेद फैलाकर चुनाव जीतना चाहती है । सवर्ण समाज ने ऐलान किया कि वे इस वक्त किसी भी राजनैतिक दल क ेसाथ नही है आने वाले दिनों में सवर्ण समाज का समागम कर अपनी अगली रणनीति का खुलासा करेंगे। 

नेताओं के पोस्टरों पर कालिख पोती
सवर्ण समाजिक संगठनों ने सुबह बोर्ड आफिस चौराहा पहुंचकर सब्जी, पान, बिस्कुट, चूडी, पूजा सामग्री, की दुकान लगाकर राहगीरों को सामान बेचा और भारत बंद का विरोध किया। इसके बाद सभी संगठनों के पदाधिकारियों ने बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, पीसीसी चीफ कमलनाथ, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, सांसद आलोक संजर, सहित कई नेताओं के पोस्टरों पर कालिख पोतकर आरक्षण के खिलाफ अपना आक्रोश व्यक्त किया।  धर्मेन्द्र शर्मा ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि चुनाव को दौरान जब जनप्रतिनिधि सवर्णों के घर वोट मांगने आयेंगे तो संगठन उनका मुंह काला कर विरोध करेंगा।

ये रहे मौजूद
पंडित धर्मेन्द्र शर्मा कक्का जी, पुष्पेन्द्र मिश्रा, पंडित चंद्रशेखर तिवारी, राखी परमार, किरण सिंह राठौड, अनिल पाठक, प्रहलाद शुक्ला, सरिता गौतम, जितेन्द्र शर्मा सहित बडी संख्या में सवर्ण समाजिक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद थे।  

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week