जानिए, मोमोज वाली लाल चटनी से लोग बीमार क्यों हो जाते हैं | HEALTH NEWS

29 September 2018

इन दिनों जंक फूड का ट्रेंड है। जिसमें मोमोज जैसी डिश को काफी पसंद किया जा रहा है। इससे ज्यादा लोगों को पसंद आती है इसके साथ मिलने वाली चटपटी-तीखी लाल और हरी चटनी। जाहिर है ये चटनी आप घर में बना भी लें, तो बाजार जैसा स्वाद नहीं आएगा। इसलिए मोमोज और अन्य स्ट्रीट फूड के साथ मिलने वाली ये चटनी लोगों को बेहद पसंद आती है लेकिन अगली बार से इस चटनी को लेने से पहले जरा सोच लें। क्योंकि ये चटनी भले ही आपको स्वादिष्ट लगती हो, लेकिन असल में ये आपको डेनजिरस बैक्टीरिया दे रही है। इसे खाने से आपको फूड इंफैक्शन तक हो सकता है। तो चटनी लेने से पहले जरूर जान लें ये बातें.....

ताजा नहीं होती पत्तियां
चटनी में इस्तेमाल  होने वाली पुदीने और धनिया की पत्तियां न तो ठीक से धुली होती हैं और न ही ये ताजा होती हैं। इसलिए इनमें बैक्टीरिया और टॉक्सिन अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। जिस कारण हैपीटाइटिस, टायफाइड और डाहयरिया होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है। 

फ्रीज में नहीं रखी जाती चटनियां
ये चटनी अधिक मात्रा में बनाई जाती है, जो दुकानदार फ्रिज में नहीं रखते। जल्दी इनके खराब होने की संभावना रहती है। कई दुकानदार देर रात तक भी इस चटनी को मोमोज या अन्य स्ट्रीट फूड के साथ सर्व करते हैं, जिससे पेट में इंफेक्शन होने का खतरा ज्यादा रहता है। 

मिलावटी मसालों का इस्तेमाल
आपको जानकर हैरत हो सकती है कि स्ट्रीट फूड वेंडर्स चटनी में मिलावटी मसालों का इस्तेमाल करते हैं। जिनमें कैमिकल और कलर्स अधिक मात्रा में मिला होते हैं। 

जहर के समान हैं ये चटनी
कई वेंडर्स कई दिनों तक इन लाल और हरी चटनी का इस्तेमाल करते हैं, वो भी बिना इन्हें फ्रीज में स्टोर किए। जाहिर है ऐसे में ये चटनी आपके लिए किसी जहर से कम नहीं है। बेहतर है मोमोज या अन्य स्ट्रीट फूड के  साथ परोसी जाने वाली चटनी को लेने से बचें।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->