FUTURE MAKER: 3 खाते खुले, संबंधियों की प्रॉपर्टी हस्तांतरण पर रोक, वारंट जारी

18 September 2018

राजेश स्वामी/हिसार। मल्टी लेवल मार्केटिंग के जरिए उत्पाद बेचने वाली कंपनी FUTURE MAKER LIFE CARE PRIVATE LIMITED के 13 बैंक खाते सीज किए गए थे। इनमें से तीन खातों की जानकारी मिल गई है। जिनमें कुल 12.5 करोड़ रुपये जमा हैं। इसके अलावा पुलिस ने हिसार नगर निगम, तहसीलदार, फतेहाबाद की नगर परिषद व तहसीलदार से दोनों आरोपित और उनके परिजनों के नाम प्रॉपर्टी का ब्यौरा मांगकर संपति के हस्तांतरण पर रोक लगा दी है।

सिटी थाना एरिया के रेड स्क्वायर मार्केट में फ्यूचर मेकर कंपनी का कार्यालय है। 10 दिन पहले हिसार में आई तेलंगाना पुलिस यहां आकर धोखाधड़ी के एक मामले में फ्यूचर मेकर कंपनी का दफ्तर सील कर गई थी। सिटी थाना पुलिस ने बाद में 9 सितंबर को यहां भी फ्यूचर मेकर कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था। पुलिस ने शहर के 13 बैंकों में कंपनी के खाते पता किए थे। पुलिस ने उन बैंक के प्रबंधन को पत्र लिखकर खाते सीज कराए थे और उनसे जमा रकम का ब्यौरा मांगा था। तीन बैंकों ने पुलिस को जवाब देते हुए कहा है कि उनके यहां 12 करोड़ 50 लाख रुपये की रकम जमा है। पुलिस ने खाते सीज करते समय बैंक प्रबंधन को आदेश दिए थे कि कंपनी किसी सूरत में रकम न निकाल पाए। कंपनी के रकम निकालने की स्थिति में बैंक प्रबंधन पर कार्रवाई की जाएगी।

सिटी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर ललित कुमार ने बताया कि ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के खाते में 5.81 करोड़ रुपये, कोटक म¨हद्रा बैंक में 4.64 करोड़ और केनरा बैंक में 2.05 करोड़ रुपये जमा हैं। उन्होंने बताया कि बैंकों को रकम न निकलने देने की हिदायत दी है। साथ ही हिसार नगर परिषद और तहसीलदार को आरोपित राधेश्याम व सुंदर के नाम प्रॉपर्टी की पहचान करने के लिए लिखा। उनके और परिजनों के नाम प्रापर्टी स्थानांतरित न करने के आदेश दिए हैं। 

पुलिस ने जारी कराया प्रोडक्शन वारंट
डोगरान मुहल्ला चौकी इंचार्ज एएसआइ नरेश बैरागी ने बताया कि हमने हिसार अदालत में एक अर्जी लगाकर तेलंगाना की साइबराबाद सिटी पुलिस द्वारा रिमांड पर लिए गए गांव सीसवाल के राधेश्याम सुथार और गांव ¨सधड़ के सुंदर सैनी की गिरफ्तारी के लिए प्रोडेक्शन वारंट जारी करने की गुहार लगाई। दोनों आरोपित का रिमांड वहां दो दिन में पूरा हो जाएगा। अदालत ने पुलिस की दलील सुनने के बाद उनका प्रोडक्शन वारंट 11 अक्टूबर के लिए जारी किया। सिटी थाना पुलिस ने इस संबंध में 9 सितंबर को केस दर्ज किया था। पुलिस प्रबंधन ने डीएसपी दलजीत ¨सह, सिटी थाना प्रभारी ललित कुमार, डोगरान मुहल्ला चौकी इंचार्ज नरेश बैरागी और अपराध शाखा के एएसआइ विपिन की एक एसआइटी गठित की थी। शहर में चल रही सभी चिट फंड कंपनियों पर हमारी नजर है। इसके लिए एडीसी की अध्यक्षता में कमेटी बना दी गई है। इस कंपनी ने कितने लोगों से पैसा लिया और कौन-कौन लोग इसमें शामिल हैं विषय पर जांच की जा रही है। चिटफंड कंपनियों में लोगों का पैसा न फंसे इस पर कदम उठाए जा रहे हैं।
अशोक कुमार मीणा, उपायुक्त, हिसार
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->