SHEOPUR में भड़के किसान, 6 घंटे तक हाइवे जाम | MP NEWS

21 August 2018

श्योपुर। जिले में कम बारिश के चलते फसल की सिंचाई के लिए परेशान किसानों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। फसल की सिंचाई के लिए राजस्थान के कोटा बैराज से चंबल नहर में पानी छोड़े जाने और पर्याप्त बिजली की मांग को लेकर किसानों ने श्योपुर-कोटा स्टेट हाइवे पर चक्का जाम कर दिया, जिससे 6 घंटे तक आवागमन ठप रहा। जाम की सूचना मिलने पर संसाधन, बिजली विभाग, पुलिस और प्रशासन मौके पर पहुंचे, ठोस आश्वासन के बाद किसानों ने जाम खोला तक जाकर वाहनों का आवागवन शुरू हुआ।

सूखती फसल देख परेशान किसान

बिजली संकट के चलते सिंचाई के अभाव में फसल को सूखता देख परेशान किसान राजस्थान के कोटा बैराज से चंबल नहर में पानी छोड़े जाने की मांग को लेकर मंगलवार को श्योपुर-कोटा स्टेट हाइवे पर बैठ गए। जिससे आवागवन पूरी तरह से ठप हो गया। सड़क पर वाहनों की लंबी कतार लग गई. यात्री परेशान होते रहे।

आश्वासन के बाद खुला जाम
सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे पुलिस-प्रशासन और जल संसाधन के साथ-साथ बिजली कंपनी के अधिकारियों ने किसानों को मनाने का काफी प्रयास किया। जहां किसान, कुलवंत सिंह का कहना कि पिछले एक महीने से दो घंटे भी बिजली नहीं मिल रही है, वहीं चंबल नहर में भी पानी नहीं छोड़ा जा रहा है। अधिकारियों द्वारा किसानों को समझाने और सात दिन में किसानों की मांगें पूरी कराने का आश्वासन दिए जाने के बाद 6 घंटे बाद जाम खुल सका। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस पार्टी ने भी किसानों के समर्थन में रही।  बता दें कि, बिजली की पर्याप्त आपूर्ति नहीं होने से जिले भर में किसानों की फसल प्रभावित हो रही है। वे अब चंबल नहर में पानी छोड़े जाने का इंतजार कर रहे हैं लेकिन चंबल नहर में पानी का मसला मध्यप्रदेश और राजस्थान सरकारों के बीच का है। 

3 दिन बाद बड़ा आंदोलन होगा

यशप्रताप सिंह की रिपोर्ट के अनुसार श्योपुर के किसानों के हित में चंबल नहर में पानी छोड़ने को लेकर प्रेमसर में चक्काजाम करते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक ब्रजराज सिंह चौहान, ब्लॉक अध्यक्ष कुलवंत सिंह , पूर्व जिला पंचायत सदस्य हंसराज रावत नागदा, किसान कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष रितेश तोमर, प्रवक्ता राजू तोमर, महावीर मित्तल, असलम हुसैन, रामप्रसाद मीणा, हरि सिंह मीणा बिलवाड़ा, लखन मीणा प्रेमसर, रामवतार मीणा बिलवाड़ा, सुरेश मीणा ननावद, ब्लॉक अध्यक्ष प्रमोद पारिख, विजय शंकर मीणा लुहाड, रामचरण नागर, सत्येंद्र गौड़,इंसाफ खान बड़ौदा,रमन शर्मा, रामनाथ शिवहरे, महेश शर्मा,निक्का सरदार,सईद मोहम्मद जलालपुरा एवम सैंकड़ो किसान भाई। किसान हित में सरकार को चम्बल नहर में पानी छोड़ना ही पड़ेगा नही तो किसान बर्बाद हो जाएगा । प्रशासन द्वारा 3 दिन का आश्वासन दिया है नहर खोलने का। अगर नही खुली तो 3 दिन बाद बड़ा आंदोलन किया जाएगा। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts