SC-ST ACT विरोध: युवा ने सांसद को हाथ पकड़कर रोका, सर खामोश क्यों हैं | MP NEWS

31 August 2018

नीमच/सिंगोली। केंद्र सरकार द्वारा लागू किए एससी, एसटी एक्ट के विरोध में सवर्ण आक्रोशित होने लगे हैं। गुरुवार को सिंगोली आए सांसद को युवाओं ने घेर लिया। कार से उतरते ही एक युवा ने सांसद का हाथ पकड़ा रोका और पूछा कि एससीएसटी एक्ट पर जब अध्यादेश लाया जा रहा था तब आप खामोश क्यों थे। जवाब दीजिए...। सांसद को कुछ नहीं सूझा, सिर नीचे किया तेज कदम बढ़ाए और कार्यकर्ता सम्मेलन में चले गए। 

सिंगोली में गुरुवार को पद्मावती सामुदायिक भवन में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे सांसद सुधीर गुप्ता को कार्यक्रम स्थल के बाहर ही युवाओं ने घेर लिया। जैसे ही गाड़ी रुकी और वे बाहर निकले तो युवक शुभम चतुर्वेदी ने उनका हाथ पकड़ लिया। उसने कहा एसटी एसी एक्ट को लेकर संसद में खामोश क्यों रहे, किस बात की खामोशी थी, जनता जवाब मांग रही है। सांसद गुप्ता ने युवक की पीठ पर हाथ रखा और तेजी से कदम बढ़ाने लगे। युवक फिर भी लगातार पूछ रहा था सर खामोश क्यों हैं, जवाब दीजिए एसटी एससी एक्ट पर आप खामोश क्यों है, सांसद ने धीरे से कहा जवाब देंगे, युवक ने फिर पूछा कब जवाब देंगे, जबाव चाहिए सर। युवक सवाल करता रहा है और सांसद गुप्ता तेजी चलकर कार्यक्रम स्थल की और बढ़ने लगे। युवक के साथ अन्य युवक भी हाथ उठाकर कहते रहे दिल्ली की संसद इतनी गुंगी-बहरी हो गई जो जनता को जवाब तक नहीं दे रही है। सांसद गुप्ता पद्मावती सामुदायिक भवन में अंदर चले गए। थोड़ी ही देर में पुलिस के जवान आए और युवक शुभम को पकड़कर थाने ले गए। युवक को थाने में आधे घंटे तक बिठाकर पूछताछ करते रहे और बाद में छोड़ दिया गया। 

सांसद की राय जानना चाहता था 
युवक शुभम चतुर्वेदी ने कहा लोकसभा एसटी एससी एक्ट के पारित होने के समय सांसद गुप्ता की क्या राय रही, यह जानना चाहता था। सांसद से सवाल पूछे लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया और पीठ पर हाथ रखते आगे निकल गए। संसदीय क्षेत्र की जनता ने सांसद सुधीर गुप्ता को चुना है, उन्हें जनता के सवालों का जवाब देना चाहिए। एक्ट पारित होने के बाद से अब तक वे खामोश क्यों हैं, उन्हें अपनी खामोशी तोड़ना चाहिए और जनता को जवाब देना चाहिए। सांसद से सवाल किया तो पुलिस उठाकर ले गई और मुझसे एक्ट को लेकर सवाल पूछे। थाने में बिठाकर रखा आैर बाद में छोड़ दिया गया। 

टीआई की बेतुकी दलील
समरथ सिमन, टीआई- थाना सिंगोली का कहना है कि सांसद सुधीर गुप्ता से सवाल पूछने वाले युवक का तरीका सही नहीं था, अगर कोई बात थी, सवाल करना था तो ज्ञापन देना चाहिए था। युवक को थोड़ी देर बैठाकर बाद में छोड़ दिया था। टीआई ने यह नहीं बताया कि किस कानून के तहत यह सिस्टम बनाया गया है कि जनता सांसद से सीधे सवाल नहीं कर सकती, जबकि लोग इन दिनों पीएम नरेंद्र मोदी से सीधे सवाल कर रहे हैं। 

सांसद से कोई भी सवाल करें, जवाब देना चाहिए 
देश में लोकतंत्र है, चुने हुए प्रतिनिधियों से जनता सवाल कर जवाब मांग सकती है। जनप्रतिनिधि को भी जवाब देना चाहिए। सवाल पूछने पर युवक को पुलिस थाने ले जाती है, यह तो ठीक नहीं है। लोकतांत्रिक देश में हर किसी को सांसद से सवाल पूछने का अधिकार है। मीनाक्षी नटराजन, पूर्व सांसद, नीमच-मंदसौर 

घबराए सांसद ने फोन रिसीव नहीं किया
सिंगोली मामले में सांसद सुधीर गुप्ता की प्रतिक्रिया जानने के लिए शाम साढ़े 7 बजे से कई बार फोन लगाया। उनके मोबाइल पर कमल अग्निहोत्री नामक व्यक्ति ने हर बार कॉल रिसीव किया और बोले सांसद गुप्ता का भाषण चल रहा है, बाद में लगाना। सांसद ने रात तक बात ही नहीं की। 

मंदसौर के देवरिया विजय में भी किए थे सवाल: 
चुनाव के चार साल बाद सांसद सुधीर गुप्ता 28 अगस्त को ग्राम देवरिया विजय पहुंचे। इसका वीडियो 30 अगस्त को वायरल हुआ। गांव के पंकज जोशी ने सांसद से एससी-एसटी एक्ट और विकास को लेकर सवाल दाग दिए। इनका सांसद जवाब नहीं दे सके। मामले में सांसद ने कहा कि कार्यकर्ता से क्या नाराज होना। उसे जो अच्छा लगा उसने कहा। 

खेरमालिया में भी लोगों ने लगाए बैनर-पोस्टर 
नीमच। एससी एसटी एक्ट का जिले के गांवों में विरोध शुरू हो गया है। आंकली, रेवली-देवली के बाद खेरमालिया में भी लोगों ने बैनर पोस्टर लगाकर विरोध शुरू कर दिया। गांव में सामान्य और पिछड़ा वर्ग की आबादी रहती है। ग्रामवासियों ने एकजुट होकर सामूहिक रूप से नोटा को वोट करने का निर्णय लिया। गांव में जगह-जगह नेताओं के साथ एक्ट के विरोध और नोटा के समर्थन में बैनर-पोस्टर लगाए जा रहे हैं। गौरतलब है आंकली गांव में तीन पूर्व ही युवाओं ने इस तरह का विरोध शुरू कर दिया। 
 मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week