Advertisement

SC-ST ACT की आग में वोटों की रोटियां पकाएगा सपाक्स | MP NEWS



भोपाल। सरकारी सेवाओं में प्रमोशन मेें आरक्षण के खिलाफ गठित हुआ सामान्य पिछड़ा अल्पसंख्यक वर्ग अधिकारी, कर्मचारी संस्था (सपाक्स) अब मुद्दों को कमजोर करने की राह पर चल रहा है। आरक्षण के खिलाफ मिले समर्थन से उत्साहित संस्था पदाधिकारियों ने पहले सामाजिक संगठन बनाया फिर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया। पब्लिक की तरफ से इसे कोई खास रेस्पांस नहीं मिला तो अब SC-ST ACT की आग में वोटों की रोटियां पकाने की तैयारी शुरू हो गई है। 

सपाक्स अब प्रमोशन मेें आरक्षण की लड़ाई लड़ती नजर नहीं आ रही हैं, हां कुछ सम्मेलन और सांस्कृतिक क्लब की तरह त्यौहार जरूर मनाए जा रहे हैं। कभी कभी कुछ बयान जारी कर दिए जाते हैं लेकिन पदाधिकारियों को स्वागत कराने का शौक अक्सर नजर आ जाता है। बीते रोज सपाक्स के संरक्षक IAS हीरालाल त्रिवेदी शहडोल में थे। वो यहां संभागीय सम्मेलन के नाम पर आए थे। स्वागत कराने के बाद उन्होंने सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ने का ऐलान किया। 

इस ऐलान के साथ ही उन्होंने पूरे आंदोलन की हवा निकालने की प्लानिंग भी कर दी है। उन्होंने बताया कि वो आर-पार की लड़ाई चरणबद्ध तरीके लड़ेंगे। शायद यह चुनाव बाद तक जारी रहेगी। सबसे पहले सांसदों को चुल्लूभर पानी भेजा जाएगा। फिर घंटी बजाओ प्रदर्शन किए जाएंगे, फिर शुरू होगा हस्ताक्षर अभियान कुल मिलाकर आर-पार की लड़ाई के नाम पर पूरा मुद्दा ही दम तोड़ देगा। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com