LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




सूर्य संक्रांति: पढ़िए आपकी राशि कितना प्रभावित होगी, क्या उपाय करें | ASTRO

17 August 2018

सूर्य के गोचर का अर्थ है सूर्य का एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करना। जब सूर्य राशि परिवर्तन करते हैं तो इसे सूर्य संक्रांति के नाम से भी जाना जाता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार, सूर्य एक राशि में एक माह की अवधि तक गोचर करते हैं। इस दौरान वह विभिन्न राशियों के अलग-अलग भावों में स्थित होकर उन्हें प्रभावित करते हैं। सूर्य सिंह राशि के स्वामी हैं। आज यानी 17 अगस्त 2018 को सूर्य अपनी स्वयं की राशि सिंह में प्रवेष कर रहे हैं और इस स्थिति में वह एक माह तक सभी राशियों को किस प्रकार प्रभावित करेंगे? बता रहे हैं ज्योतिषाचार्य, आशुतोष वार्ष्णेय…

मेष: विवाद की स्थिति से बचें 
सूर्य का राशि परिवर्तन मेष राशि के लोगों को मानसिक भ्रम की स्थिति में डाल सकता है। स्वयं और संतान को स्वास्थ्य कष्ट हो सकता है। बेवजह अधिकारियों अथवा सरकार से वाद-विवाद की स्थिति आ सकती है। आदित्य हृदय स्तोत्र का नित्य पाठ करें ताकि अशुभ फल को कम किया जा सके।
सफलता के लिए- सूर्य को जल दें, आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें

वृष: मानसिक कष्ट बढ़ सकता है 
सूर्य का गोचर वृष राशिवालों के लिए मानसिक व शारीरिक कष्ट बढ़ा सकता है। सुखों में कमी के कारण घरेलु विवाद बढ़ सकते हैं। जमीन-जायदाद संबंधी अनेक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। अनावश्यक यात्रा करनी पड़ सकती है तथा असुरक्षा का भय भी बना रहेगा। पूरे महीने सुबह-सुबह सूर्य भगवान को नमस्कार करें तथा तांबे के पात्र से जल अर्पण करें, लाभ अवष्य प्राप्त होगा।
सफलता के लिए- रोज तांबे के लोटे से उगते सूर्य को अर्घ्य दें।

मिथुन: हर तरफ से लाभ के संयोग 
सूर्य का यह राशि परिवर्तन मिथुन राशिवालों के लिए उच्च अधिकारियों से मुलाकात के योग बनाएगा। पुत्र तथा मित्रों से सम्मान मिलेगा। शत्रुओं पर विजय और धन-प्रतिष्ठा प्राप्त होगी। पद लाभ के साथ-साथ आर्थिक लाभ भी प्राप्त होगा। घर से निकलने से पूर्व रोजाना गुड़ खाएं। कार्यों में सफलता प्राप्त होगी।
सफलता के लिए – कार्य पर निकलने से पहले गुड़ खाएं।

कर्क: कार्यों में विलंब हो सकता है 
कर्क राशि के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन कार्यों में विलंब का कारण बन सकता है। मान-सम्मान में कमी, विवादों के कारण मानसिक व्यथा, असामाजिक लोगों की संगति का प्रभाव देखने को मिलेगा। व्यापार और संपत्ति में हानि का भय बना रहेगा, मित्रों व संबंधियों से विवाद हो सकता है। नकारात्मक प्रभाव को कम करने हेतु पूरे महीने प्रत्येक रविवार गुड़ का दान करें।
सफलता के लिए – हर रविवार को गुड़ का दान करें।

सिंह: तबियत का ध्यान रखें 
सिंह राशि में ही सूर्य का प्रवेश हो रहा है, जो कि सिंह राशि के लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित करेगा। मानसिक तनाव की स्थिति बनी रहेगी। रक्तचाप, हृदय रोग, उदर विकार, नेत्रविकार आदि होने की संभावना बन सकती है। प्रतिदिन तांबे के पात्र से जल ग्रहण करें ताकि स्वास्थ्य लाभ के साथ सूर्य के विपरीत प्रभाव को दूर किया जा सके।
सफलता के लिए – तांबे के गिलास से पानी पिएं।

कन्या: धन के अपव्यय से बचें 
कन्या राशि के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन शारीरिक कष्ट का कारण बन सकता है। धन के अपव्यय से बचें। मानसिक चिंताएं और अधिक बढ़ सकती हैं। दुर्घटनाओं का भय बना रह सकता है। कन्या राशिवाले पूरे महीने गेंहू व गुड़ का दान करें तो विपरीत प्रभावों को कम किया जा सकता है।
सफलता के लिए – गुड़ और गेहूं का दान करें

तुला: आर्थिक और मानसिक लाभ के योग 
तुला राशि के जातकों के लिए यह महीना हर तरफ से लाभकारी और सफलता प्रदान करनेवाला रहेगा। ग्यारहवें भाव में सूर्य का भ्रमण व्यापार में लाभ, आमदनी में वृद्धि कराएगा। कुल मिलाकर आर्थिक, मानसिक एवं शारीरिक स्तर पर लाभ अवश्य प्राप्त होगा। सूर्यदेव की उपासना करें ताकि लाभ के प्रतिशत को और बढ़ाया जा सके।
सफलता के लिए – प्रतिदिन उगते सूर्य की पूजा करें, जल चढ़ाएं।

वृश्चिक राशि: सुख और समृद्धि मिलेगी 
सूर्य का अपनी राशि में जाना, वृश्चिक राशि के लिए हर प्रकार से सुख और समृद्धि देनेवाला है। सभी कार्य सरलता से पूर्ण होंगे। उच्च अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। सरकार की ओर से धन व सम्मान की प्राप्त होगी। नौकरी में भी पदोन्नति के योग बनेंगे। अधिक सफलता के लिए तांबे का टुकड़ा या बर्तन किसी धार्मिक स्थल पर दान करें।

धनु: सफलता के लिए- तांबे का बर्तन दान करें। 
धनु राशिवालों के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन कुछ नकारात्मक प्रभाव लेकर आ रहा है। राजकीय कार्यों में परेशानी उठानी पड़ सकती है। मित्रों व पुत्रों से मतभेद हो सकता है। भाग्य साथ कम ही मिल पाएगा। भाग्योदय हेतु तांबे का सूर्य बनवाकर प्रतिदिन पूजा करें तथा अपने साथ या घर पर रखें।
सफलता के लिए- तांबे का सूर्य घर में रखें, पूजा करें।

मकर: सावधानी बरतने की जरूरत है 
सूर्य के राशि परिवर्तन के साथ मकर में जन्मे लोगों को सर्तक रहने की आवश्यकता है। जुर्माना, मुकदमा आदि की संभावनाओं से बचें। अपमान का भय, शत्रुओं से झगड़ा या शारीरिक कष्ट होने की संभावनाएं बन रही हैं। तांबे का टुकड़ा भूमि के अंदर गाढ़ दें ताकि विपरीत प्रभावों से सरलतापूर्वक बचा जा सके।
सफलता के लिए – सूर्य को जल चढ़ाएं और तांबे का टुकड़ा जमीन में गाढ़ दें।

कुंभ राशि: कार्य सफलता में देरी की आशंका 
सूर्य का अपनी राशि में गोचर कुंभ राशि में जन्मे लोगों के दांपत्य जीवन में विवाद के कारण उत्पन्न कर सकता है। अधिकांश कामों में सफलता मिलने की कम संभावना है। व्यवसाय या काम में बाधाएं उत्पन्न हो सकती हैं। कष्टकारी यात्राएं करनी पड़ सकती हैं, धन व मानहानि की आशंका भी बन रही है। इस राशि के लोगों को पूरे महीने नमक का सेवन कम ही करना चाहिए।
सफलता के लिए- सूर्य को जल चढ़ाएं और नमक कम खाएं।

मीन: कार्य सफलता और धन प्राप्ति के योग 
मीन राशिवालों के बिगड़े काम बनाएगा, सूर्य का यह राशि परिवर्तन। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। सभी प्रकार के सुख की प्राप्ति होगी। अन्न-वस्त्र इत्यादि का लाभ तथा मन व शरीर स्वस्थ रहेगा। बहते पानी में तांबे का सिक्का डालें ताकि सूर्यदेव का पूर्ण आशीर्वाद मिल सके।
सफलता के लिए- तांबे का सिक्का पानी में बहा दें।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->