रेलवे भर्ती: उम्मीदवारों के लिए गुडन्यूज, 34000 रिक्त पद बढ़ाए | RAILWAY RECRUITMENT LATEST NEWS

02 August 2018

नई दिल्ली। सरकार ने रेलवे में सहायक लोको पायलट तथा तकनीशियनों की भर्ती के लिए रिक्त पदो की संख्या 26,502 से बढ़ा कर लगभग 60 हज़ार करने का निर्णय लिया। ऐसा ज्यादा से ज्यादा आवेदकों को भर्ती का मौका देने तथा परीक्षा केंद्रों की दूरी को लेकर आ रही शिकायतों को दूर करने के इरादे से किया गया है। इसके पीछे रेलवे यूनियन एआइआरएफ की भी भूमिका है, जिसने पिछले दिनो रेलमंत्री से मिलकर संरक्षा श्रेणी के इन पदों पर भर्तियां बढ़ाने की मांग की थी।

रेलवे ने सहायक लोको पायलट और तकनीशियनों की भर्ती के लिए जनवरी में विज्ञापन निकाला था। जिसके जवाब में ढाई करोड़ से ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए थे। स्क्रूटनी के बाद इनमें से 47.56 लाख आवेदकों के विवरण सही पाए गए थे। इनकी परीक्षा 9 अगस्त को शुरू होगी और कई चरणों में समाप्त होगी। परीक्षा की अन्य तिथियां 10, 13, 14, 17, 20, 21, 30 तथा 31 अगस्त को हैं। ये तारीखें परीक्षा केंद्रों और संसाधनों की उपलब्धता को देखते हुए तय की गई हैं। एक दिन में तीन-तीन शिफ्ट में परीक्षा होगी। हर शिफ्ट में अलग प्रश्नपत्र के हिसाब से कुल तीस प्रकार के प्रश्न पत्र तैयार कराए गए हैं।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार विभिन्न राज्यों में प्रमुख कॉलेजों तथा बड़े तकनीकी संस्थानों में ये परीक्षा आयोजित करवाई जा रही है। पिछली भर्ती परीक्षा में जिन कॉलेज/इंस्टीट्यूट में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थीं उन्हें ब्लैकलिस्ट किया जा चुका है। इसलिए इस बार ये परीक्षाएं नए सेंटरों में हो रही हैं।

भर्ती परीक्षाओं को लेकर रेलमंत्री पीयूष गोयल को लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही थीं। आवेदक उन्हें लगातार ट्वीट कर रहे थे। बिहार से राहुल जायसवाल ने ट्वीट किया था कि सर, मैं मुश्किल में हूं। मेरा 10 अगस्त को हैदराबाद में रेलवे का इम्तहान है और अगले दिन मुझे ग्रामीण बैंक की परीक्षा देनी है। यह कैसे संभव है। फ्लाइट की मेरी औकात नहीं है। मधेपुरा के एक छात्र ने लिखा कि वहां से इंदौर कोई ट्रेन नहीं जाती है। रेलवे का फ्री पास होने के बाद भी टिकट नहीं दिया जा रहा है। मिथिलेश यादव ने ट्विट किया है कि सर मेरा होमटाउन कोलकाता है। मेरा सेंटर भोपाल दे दिया गया है। क्या आप एग्ज़ाम सेंटर बदल सकते हैं।

परीक्षा केंद्रों के आवंटन से परेशान अभ्यर्थियों का सवाल है कि 2016 की भर्ती में 18,000 पदों के लिए परीक्षा में 92 लाख लोग शामिल हुए थे। तब ऐसी कोई दिक्कत नहीं हुई थी। फिर इस बार सिर्फ 47.56 लाख लोगों की परीक्षा कराने में इतनी समस्याएं क्यों आ रही हैं?
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->