मप्र के 17 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी | MP NEWS

29 August 2018

इंदौर। मानसूनी सिस्टम बनने से प्रदेश में फिर बारिश का दौर शुरू हो गया। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बुधवार को सीहोर, रायसेन, विदिशा समेत 17 जिलों में भारी बारिश हो सकती है। अन्य जिलों में गुना, अशोक नगर, नरसिंहपुर, बालाघाट, छिंदवाड़ा, सिवनी, जबलपुर, सागर, दमोह, धार, खंडवा, बुरहानपुर, आलीराजपुर, खरगोन जिले शामिल हैं। इंदौर-भोपाल में इसका असर हो सकता है, लेकिन बारिश मूसलाधार नहीं होगी। इंदौर में सुबह से ही रिमझिम बारिश का दौर जारी है। जबलपुर में बरगी बांध का लगातार जलस्तर बढ़ने के बाद बुधवार दोपहर 7 गेट खोल दिए गए।

बरगी बांध के खुलेंगे 7 गेट
लगातार हो रही तेज बारिश से बरगी बांध का जलस्तर बढ़ता जा रहा है। बांध के पानी को नियंत्रित करने के लिए बुधवार को औसतन 1.07 मीटर की ऊंचाई तक 7 गेट खोल दिए गए। बरगी बांध की नहर प्रकोष्ठ के कार्यपालन यंत्री अजय सूरे ने बताया कि बढ़ते जलस्तर को देखते हुए प्रशासन ने 21 में से 7 गेट खोलने का निर्णय लिया है। सूरे के अनुसार बुधवार को बांध का जलस्तर 422.60 मीटर रिकाॅर्ड किया गया। बांध में अभी 1500 क्युमेक के करीब पानी प्रवेश कर रहा है। बांध से जल विद्युत उत्पादन इकाइयों के माध्यम से करीब 139 क्यूसेक और नहर से 5-5 क्यूमेक पानी छोड़ा जा रहा है। 

गोटेगांव में 41 साल का रिकाॅर्ड टूटा 
नरसिंहपुर जिले में पिछले 24 घंटे में 6 इंच यानी करीब 153 मिमी बारिश हुई। यहां नदी-नाले उफान पर हैं। गोटेगांव में कुछ ही घंटों में 6 इंच से ज्यादा बारिश होने से निचली बस्तियां जलमग्न हो गईं। छीदोरी हार में बाढ़ से घिरे 5 परिवारों को लोगों ने ट्यूब की नाव तैयार करके घर से सुरक्षित बाहर निकाला। यहां राहत शिविरों में 350 बाढ़ प्रभावित लोग रह रहे हैं। गोटेगांव तहसील में बारिश का 41 साल पुराना रिकाॅर्ड टूट गया। 1977 में गोटेगांव क्षेत्र में जैसी बाढ़ आई थी, उसी तरह के हालात बने हुए हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week