Loading...

मराठा क्रांति: पुणे का रेलवे ट्रैक और मुंबई-पुणे हाइवे जाम किया। NATIONAL NEWS

MUMBAI: पुणे में 'मराठा क्रांति मोर्चा' ने रेलवे ट्रैक जाम कर दिया है। वहीं, मुंबई-पुणे हाइवे को भी जाम किया गया है। इस आंदोलन के मद्देनजर महाराष्‍ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बैठक बुलाई है. इस बैठक में सभी मंत्री शामिल होंगे। मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा राज्यव्यापी प्रदर्शन हिंसक होने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस पूरे मामले पर बयान दिया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने मराठा समुदाय के विरोध का संज्ञान लिया है और इस पर कई फैसले लिए हैं। सरकार उनसे बात करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि सरकार ने मराठा समुदाय के आरक्षण के लिए कानून बनाया था लेकिन बॉम्बे हाईकोर्ट ने उस पर स्टे लगा दिया था। आरक्षण की मांग को लेकर मराठा आंदोलन ने फिर तेज़ी पकड़ ली है।    

इससे पहले, प्रदर्शनकारियों के पथराव में एक कांस्टेबल की मौत हो गई जबकि नौ अन्य जख्मी हो गए। बुधवार को मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद का आह्वान किया था। इसके बाद मुंबई में कई जगहों पर बेस्ट बसों पर पथराव किया गया। ठाणे में ट्रेनें रोक दी गईं। लेकिन बुधवार की दोपहर तक हिंसा तेज होते देख मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद वापस ले लिया था। 

'मराठा क्रांति मोर्चा' के मुताबिक, अगर सरकार ने मराठाओं के पक्ष में उचित फैसला नहीं लिया तो जन आक्रोश पूरे महाराष्ट्र में अशांति फैला देगा। इसके जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ मुख्यमंत्री होंगे। मराठाओं ने पहले ही साफ किया है कि बातचीत नहीं करनी है। सीएम के बातचीत के प्रस्ताव को बुधवार को मराठा समाज ने ठुकरा दिया था।

30 फीसदी हैं मराठा समुदाय
राजनीतिक तौर पर प्रभावशाली मराठा समुदाय के लिए आरक्षण का मामला बेहद विवादास्पद मुद्दा है। राज्य की आबादी में करीब 30 फीसदी मराठा हैं। इसके पहले समुदाय के नेता अपनी मांगों को लेकर विभिन्न जिलों में रैलियां निकाल चुके हैं। पिछले साल मुंबई में मराठा क्रांति मोर्चा ने एक बड़ी रैली का आयोजन किया था।