MP PAHUNT: अब PEB नहीं CBSE कराएगा, टोपी वाला फोटो नहीं चलेगा | EDUCATION NEWS

22 July 2018

भोपाल। प्रदेश की PAHUNT यानी आयुष विभाग के अंतर्गत राज्य के शासकीय एवं निजी क्षेत्र के आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी महाविद्यालयों एवं निजी क्षेत्र के प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग महाविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (PEB) नहीं कराएगा। बल्कि केन्द्र सरकार का सेन्ट्रल बोर्ड आफ सेकेण्ड्री एजुकेशन (CBSE) यह परीक्षा नेशनल एलिजिबिलिटी कम एन्ट्रेन्स टेस्ट यानी नीट के माध्यम से आयोजित करेगा। इस संबंध में नए नियम जारी कर दिए गए हैं।

नए नियमों में नीट परीक्षा के आवेदन-पत्र में टोपी लगा फोटो लगाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। यही नहीं फोटो में धूप का चश्मा भी नहीं होना चाहिए तथा फोटो पोलोराइड या कम्प्यूटर से बना भी स्वीकार नहीं होगा। आयुष कालेजों की सीटों में आरक्षण का प्रावधान होगा तथा आरक्षण के हर वर्ग में महिलाओं के लिये तीस प्रतिशत सीटें आरक्षित रहेंगी।

नए नियमों में बताया गया है कि शासकीय आयुष कालेजों में सिर्फ मप्र के मूल निवासी को ही प्रवेश मिलेगा। जबकि निजी आयुष कालेजों में प्रदेश के बाहर निवास करने वाले भी प्रवेश पा सकेंगे, लेकिन मप्र के आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों हेतु 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित रहेंगी। ग्वालियर स्थित शासकीय आयुष कालेज में विदेशी छात्रों हेतु पांच सीटें आरक्षित रहेंगी तथा ये सीटें भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के द्वारा भरी जाएंगी। 

इनका कहना है
PAHUNT अब प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड के द्वारा नहीं होंगी बल्कि सीबीएसई द्वारा आयोजित नीट के माध्यम से होगी और नीट परीक्षा की मेरिट लिस्ट के आधार पर प्रवेश दिया जायेगा। इसमें आरक्षण का भी प्रावधान रहेगा।
डॉ. सतीश चन्द्र शर्मा, संयुक्त संचालक, आयुष संचालनालय भोपाल
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week