यह है देवशयनी एकादशी से देवोत्थान एकादशी तक चातुर्मास केलेंडर | CHATURMAS CALENDAR 2018

09 July 2018

भोपाल। आषाढ़ शुक्ल एकादशी के दिन 23 जुलाई को देवशयनी एकादशी के चलते चातुर्मास शुरू होने जा रहे हैं। चतुर्मास 19 नवंबर देव उठनी एकादशी तक रहेंगे। इन चार माह में विवाह आदि शुभ कार्य पूरी तरह से बंद रहेंगे। वहीं 16 दिसंबर से 14 जनवरी 2019 तक मलमास रहने के कारण भी विवाह नहीं हो पाएंगे। इन चार महीनों में तमाम तरह के शुभ कार्य करना निषेध रहेगा जबकि धार्मिक आयोजन पुण्यदायक माने जाएंगे। शहर में विभिन्न स्थानों पर श्रीमद् भागवत, रामायण एवं अन्य धार्मिक आयोजन बड़ी संख्या में होंगे। मां चामुंडा दरबार के पुजारी रामजीवन दुबे ने बताया कि देवगुरु बृहस्पति 10 जुलाई को रात 11 बजे तुला राशि में प्रवेश कर रहे हैं। गुरु के मार्गीय होने का लाभ आने वाले चातुर्मास में आराधकों को मिलेगा। ऐसे में चातुर्मास के दौरान व्रत करने वालों को धन, स्वास्थ्य एवं प्रतिष्ठा मिलेगी। ज्योतिषियों के मुताबिक चातुर्मास की शुरुआत सर्वार्थ सिद्धि योग में हो रही है।

10 से 15 दिन बढ़ गए हिंदुओं के तीज त्यौहार
इस साल अधिकमास पड़ जाने के कारण एक माह देरी से विश्राम पर जाएंगे। इस कारण सनातन धर्म के तमाम तीज त्यौहारों की तिथी 15 दिन तक आगे बढ़ गई है। पं. दुबे ने बताया कि इस बार अधिकामस होने के कारण सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु एक माह देरी से विश्राम करेंगे। इस कारण चातुमार्स भी एक माह आगे बढ़ जाएगा। इन चार महीनों में आने वाले तीज त्यौहार पिछले साल की तुलना में 10 से 15 दिन आगे बढ़ जाएंगे। शास्त्रों के अनुसार देवशयनी एकादशी से भगवान विष्णु चार माह तक क्षीर सागर में विश्राम करते है। इस दौरान सृष्टि की बागडोर भगवान भोलेनाथ संभालते हैं।

क्या होता है चतुर्मास
शास्त्रानुसार देवशयनी एकादशी से देवउठनी एकादशी तक का समय चातुर्मास कहलाता है। इन चार महीनों में विशेष देव आराधना की जाती है। इस दौरान कई हिन्दू तीज त्यौहार भी आते हैं। इस दौरान विवाह आदि व्यक्तिगत मांगलिक कार्य वर्जित रहते हैं। देश के तमाम साधू-संत चातुर्मास करने अलग-अलग सिद्ध स्थानों पर पहुंचते हैं और विशेष साधना में लीन हो जाते हैं। चातुर्मास समाप्त होने पर वह किसी दूसरी जगह जाकर दोबारा से साधना शुरू करते हैं।

15 दिन आगे बढ़े तीज त्यौहार
जुलाई - 23 जुलाई देवशयनी एकादशी, 27 जुलाई गुरु पूर्णिमा, 28 जुलाई सावन माह प्रारंभ।
अगस्त - 11 अगस्त हरियाली अमावस्या, 15 अगस्त नागपंचमी, 26 अगस्त रक्षाबंधन।
सितंबर - 2 सितंबर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, 13 सितंबर गणेश चतुर्थी, 23 सितंबर अनंत चतुर्दशी।
अक्टूबर - 10 अक्टूबर शारदीय नवरात्र, 19 अक्टूबर दशहरा, 24 अक्टूबर शरद पूर्णिमा।
नवंबर - 5 नवंबर धन तेरस, 7 नवंबर दीपावली, 9 नवंबर भाई दूज, 17 नवंबर अक्षय नवमी, 19 नवंबर देवउठनी एकादशी।
(अधिकमास के कारण ये सभी त्यौहार पिछले साल के मुकाबले 10 से 15 दिन आगे बढ़ गए हैं)
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts