शिक्षा विभाग में ई-अटेंडेंस मैं हरगिज़ नहीं लागू होने दूंगा: शिवराज सिंह | ADHYAPAK NEWS

19 July 2018

भोपाल। बड़ी खबर आ रही है। सीएम शिवराज सिंह ने सतना में बयान दिया है कि शिक्षा विभाग में ई-अटेंडेंस मैं हरगिज़ नहीं लागू होने दूंगा। गौरतलब है कि 19 जुलाई को सर्किट हाउस सतना में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से राज्य अध्यापक संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष वा जिला अध्यक्ष सतना श्री शैलेंद्र त्रिपाठी तथा प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ई-अटेंडेंस को अव्यवहारिक बताते हुए शिक्षा विभाग में संविलियन के लिए आदेश जारी किए जाने हेतु तथा अन्य समस्याओं को गंभीरता से निराकरण कराने के लिए ज्ञापन दिया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पूरी गंभीरता से अध्यापकों की मांगों पर गौर करते हुए मौके पर ही प्रतिनिधिमंडल से ई-अटेंडेंस जैसी कोई भी व्यवस्था लागू नही किए जाने के लिए अपनी सहमति दे दी है तथा सातवां वेतनमान व शिक्षा विभाग में संविलियन हेतु आदेश जारी करने और उस पर विस्तृत चर्चा के लिए जिला अध्यक्ष शैलेंद्र त्रिपाठी को अपने साथ इस जन आशीर्वाद यात्रा में गाड़ी में बैठ कर बात करने के लिए आमंत्रित किया। 

एम शिक्षामित्र के खिलाफ पूरे प्रदेश में एकजुट हुए शिक्षा कर्मचारी | ADHYAPAK-TECHER NEWS

भोपाल। अनिवार्य रूप से लागू कर दिए गए एम-शिक्षा मित्र एप एवं ई-अटेंडेंस व्यवस्था के विरोध में पूरे प्रदेश में सरकारी शिक्षा व्यवस्था से जुड़े सभी कर्मचारी एकजुट हो गए हैं। इनमें अध्यापक, शिक्षक एवं कार्यालयीन कर्मचारी शामिल हैं। पूरे प्रदेश में प्रदर्शन किए जा रहे हैं एवं एम शिक्षामित्र के लिए आयोजित होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों का बहिष्कार किया जा रहा है। 

भोपाल में प्रशिक्षण का बहिष्कार
भोपाल में एम शिक्षा मित्र एप के बारे में प्रशिक्षण देने एवं ई अटेंडेंस व्यवस्था के क्रियान्वयन के लिए विकासखंड स्तर पर दो दिनी कार्यशाला सोमवार और मंगलवार को होना थी। इसके लिए विकासखंड शिक्षा कार्यालय ने छह बैच का कार्यक्रम जारी किया था। पहले और दूसरे दिन सभी बैच में शिक्षकों व अध्यापकों ने उत्कृष्ट विद्यालय प्रशिक्षण स्थल पर जोरदार हंगामा कर प्रशिक्षण की कार्रवाई को ठप कर दिया। तथा किसी भी बैच में प्रशिक्षणार्थी शामिल नहीं हुए। शिक्षकों व अध्यापकों ने समूह में एकत्र होकर पहले बीईओ एवं बाद में एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर ई अटेंडेंस जैसी अपमान जनक व्यवस्था पर रोक लगाए जाने की मांग की। विरोध प्रदर्शन शिक्षक अध्यापक संयुक्त मोर्चा के आव्हान पर किया गया। जिसमें मप्र शिक्षक संगठन, आजाद अध्यापक संघ, अध्यापक संविदा शिक्षक संघ, राज्य कर्मचारी संघ, राज्य अध्यापक संघ, अध्यापक संघर्ष समिति सहित अनेक संघ शामिल हुए। 

श्योपुर में एकजुट हुए सभी संगठन
श्योपुर जिले में पांच शिक्षक -अध्यापक संगठनों ने शहर के शासकीय हजारेश्वर उमा विद्यालय में आयोजित इस बैठक के दौरान राज्य अध्यापक संघ, आजाद अध्यापक संघ, शासकीय अध्यापक संघ, अध्यापक कांग्रेस एवं शिक्षक कांग्रेस के पदाधिकारियों ने सरकार की इस दोषपूर्ण नीति का किसी भी कीमत पर साथ नहीं देने का फैसला किया है। इस अवसर पर राज्य अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष रामचरित रावत, आजाद अध्यापक संघ से धर्मेंद्र शर्मा, शासकीय अध्यापक संघ से प्रमोद गुप्ता, अध्यापक कांग्रेस से आजाद मोहम्मद, शिक्षक कांग्रेस से उमेश सिंह सिकरवार, राज्य अध्यापक संघ से ब्लॉक अध्यक्ष सेवक राम जांगिड़ सहित बड़ी संख्या में शिक्षक शामिल हुए। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week