भय्यूजी के आपत्तिजनक फोटो/वीडियो भी बना लिए थे

01 July 2018

इंदौर। भय्यू महाराज की आत्महत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है। पता चला है कि भय्यूजी महाराज के करीबियों ने उनके आपत्तिजनक फोटो एवं वीडियो भी बना लिए थे। इसके कारण भी भय्यूजी तनाव में रहते थे। इधर उनकी विसरा रिपोर्ट भी आ गई है। इसमें स्पष्ट हो गया है कि उन्हे किसी भी तरह के जहर या अन्य केमिकल नहीं दिया गया था। पुलिस मौत की मुख्य वजह पारिवारिक कलह ही मान रही है। 27 लोगों के बयान दर्ज करने के बाद पुलिस के पास तनाव की कई वजह सामने आ गईं हैं। कोई एक कहानी तैयार नहीं हो पा रही है जिसे सुसाइड के लिए​ जिम्मेदार माना जाए। 

करीबियों के पास थे आपत्तिजनक फोटो और वीडियो

सीएसपी मनोज रत्नाकर ने बताया अब तक की जांच में पुलिस को आत्महत्या की मुख्य वजह पारिवारिक तनाव ही नजर आ रहा है। आर्थिक कमजोरी या फिर अन्य किसी वजह को लेकर कोई सबूत नहीं मिला है। फिंगर प्रिंट रिपोर्ट में भी महाराज की बंदूक, जिस पेन से सुसाइड नोट लिखा उस पर, टेबल पर रखे पेड या अन्य किसी महत्वपूर्ण जगह पर किसी और के निशान नहीं मिले हैं। सूत्रों के मुताबिक पुलिस के पास यह जानकारी भी पहुंची है कि महाराज के पास रहने वाले कुछ लोगों ने उनके आपत्तिजनक फोटो और वीडियो बना लिए थे। इससे भी महाराज तनाव में रहने लगे थे।

17वें दिन सामने आया एक परिचित-एक लेटर

भय्यू महाराज के सुसाइड (12 जून) के 17वें दिन एक अनाम लेटर और एक परिचित पुलिस के पास पहुंचा। गुरुवार को डीआईजी के पास पहुंचे 15 पेज के अनाम लेटर के बाद उसी दिन भोपाल से इंदौर आकर भय्यू महाराज के एक करीबी ने पुलिस के एक अफसर से मुलाकात की। उसने बताया- सुसाइड से एक महीने पहले हॉस्पिटल में उनकी भय्यू महाराज से मुलाकात हुई थी। तब भय्यू महाराज ने उनसे कहा था कि बेटी कुहू और पत्नी आयुषी के बीच चल रहे तनाव से वे काफी तनाव में हैं। यह तनाव अब वे सहन नहीं कर पा रहे हैं। वे खुद को गोली मार लेंगे। हालांकि पुलिस ने ऐसे किसी व्यक्ति से मुलाकात से इनकार किया है।

पत्नी और बेटी के बीच विवाद का किया था जिक्र

सूत्रों के मुताबिक, उक्त करीबी व्यक्ति ने अफसर को बताया- सुसाइड के एक महीने पहले भय्यू महाराज की तबीयत बिगड़ी थी। वे विजय नगर इलाके के एक प्राइवेट हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती थे, तब वे उनसे मिलने पहुंचे थे। उस वक्त भय्यू महाराज की पत्नी भी वहीं थी। कुछ पल के लिए जब उन्हें अकेले में बात करने का मौका मिला तो महाराज ने उनके सामने पत्नी और बेटी के बीच विवाद का जिक्र करते हुए कहा था कि अब मुझसे तनाव सहन नहीं होता, मैं खुद को गोली मार लूंगा। करीबी व्यक्ति के मुताबिक, तब मैंने उन्हें ढांढस बंधाया था। कुछ दिन बाद वे आयुषी को समझाने आश्रम स्थित घर भी पहुंचे थे, लेकिन उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया और महाराज ने अपने कहे को सही साबित कर दिया।

पत्र की प्रमाणिकता के लिए राज की बातों का खुलासा भी किया

डीआईजी को मिले लेटर और करीबी द्वारा बताई गई बातों में समानता है। बताया जाता है लेटर अनाम है, लेकिन उसे महाराज के बेहद करीबी रहे किसी सेवादार या परिचित ने लिखा है। महाराज क्या खाते थे, क्या पहनना पसंद करते थे, उनकी पसंद की सब्जी कौन सी थी और वे किन बातों से नाराज और किन बातों से खुश होते थे, यह सब कुछ छोटे-छोटे संवादों में दिन, वार और दिनांक के साथ लिखा है। लेटर में लिखने वाले ने पत्नी आयुषी द्वारा महाराज से किए जाने वाली कुछ बातचीत भी लिखे हैं, जिनमें आयुषी महाराज पर रौब जमाती हैं। लेटर में कुछ ऐसे विवाद के बारे में भी जानकारी है जिससे महाराज सेवादारों के सामने खुद को लज्जित महसूस करने लगे थे।

पुलिस जांच में शामिल होंगी करीबी द्वारा कही गई बातें

यह भी पता चला है कि पुलिस उक्त करीबी व्यक्ति द्वारा बताई गई बातों को भी जांच में शामिल करेगी। हालांकि अफसरों का कहना है कोई पुलिस को अाधिकारिक रूप से बयान दे तो पुलिस तथ्य जुटाकर महाराज को प्रताड़ित करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी। बिना किसी के बयान और तथ्य के इस मामले में किसी पर भी कोई कार्रवाई होना संभव नहीं है। उधर इस मामले में दो दर्जन से ज्यादा लोगों से पूछताछ के बाद भी पुलिस ने अब तक किसी को दोषी नहीं माना है। पुलिस को फिलहाल भय्यू महाराज की विसरा रिपोर्ट का इंतजार है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts