Loading...

हड़ताली कृषि विस्तार अधिकारी भड़के, SALARY आहरण पर रोक

भोपाल। मध्यप्रदेश ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी संघ की हडताल लगातार 23वें दिन भी जारी रही। सर्वेयर के समान वेतनमान एवं समान कार्य समान वेतन की मांग को लेकर संघ 28 मई से अनिश्चितकालीन हडताल पर है। संघ के लगातार हड़ताल पर रहने की वजह से किसान कल्याण तथा कृषि विभाग संचालक ने हड़ताली अधिकारियों का वेतन आगामी आदेश तक आहरित नही किये जाने का आदेश दिया है। इससे गुस्साए आंदोलनरत कृषि विस्तार अधिकारियों ने आदेश की प्रति की होली जलाकर अपना विरोध प्रकट किया इस दौरान कर्मचारियों ने कृषि विभाग के प्रमुख सचिव डॉ राजेश राजौरा को हटाने के नारे भी लगाए। प्रदेश प्रवक्ता मनोज मिश्रा का कहना है कि शासन हमारी मांग को ध्यान नही दे रहा है न किसानो को हित को ध्यान नही दे रहा है इसलिए हमने 23 वे दिन भी हडताल पर रहना पडा है इसलिए विरोध स्वरुप हमने शासन के आदेश की होली जलाई है।

किसान हो रहे है परेशान
मध्यप्रदेश ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों के हडताल पर जाने की वजह से लघु सीमांत किसानो मिलने वाली सोयाबीन मिनीकिट नही मिल पा रही है। सूरज धारा एवं अऩ्नपूर्णा योजना के तहत हरिजन आदिवासी किसानो को अनुदान पर बीज दिए जाते है किसानो को वह नही मिल पा रहे है। हर विकास खंडो में बीज भंडारित है लेकिन वह किसानो को नही मिल पाने की वजह से किसान परेशान है इसके साथ मिट्टी की जांच रिपोर्ट भी किसानों को नही मिल पा रही है।

ये रहे शामिल
मनोज मिश्रा प्रदेश प्रवक्ता, रविन्द्र श्रीवास्तव, डीके शुक्ला, डीडीएच चौहान, अनिल श्रीवास्तव, प्रभात सक्सेना, अवधेश सक्सेना, आरएन बेले, इमरान जावेद, सहित बडी संख्या में कृषि विस्तार अधिकारी शामिल हुए।