BJP नेता एवं शिवराज सरकार का उन्नत किसान, घटिया चना पास कराने के मामले में FIR

07 June 2018

बनखेड़ी/होशंगाबाद। भाजपा नेता संजीव मालानी जिसे सरकार ने उन्नत किसान बताया और टीवी पर चलने वाली सरकारी विज्ञापनों में वो प्रदेश भर के किसान नेताओं को उन्नत खेती के तरीके बताता था, घटिया और घुना हुआ चना बेचने की कोशिश में आरोपित किया गया है। भाजपा के दिग्गजों ने अपने नेता को बचाने के लिए काफी प्रयास किए परंतु विभागीय जांच में वह दोषी पाया गया और उसके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। शर्मसार हुई सरकार ने अब उस विज्ञापन को भी बंद कर दिया है जिसमें संजीव मालानी को उन्नत किसान बताया जाता था। मालानी किसान मोर्चा का जिलाध्यक्ष है। 

कैसे हुआ खुलासा

शुक्रवार को मंडी में दोपहर 3 बजे तक नेफेड का सर्वेयर हरीश दीक्षित नहीं आए जिसके कारण चने की तुलाई पूरी तरह बंद थी। सर्वेयर के आने के बाद जानकारी लगी कि गलत चना खरीदने के लिए भाजपा नेता संजीव मालानी सर्वेयर पर दबाव बना रहे थे। इस कारण वो मंडी ही नहीं आ रहा था। मौके पर किसानों के हंगामे के बाद नायब तहसीलदार संतोष मंडलोई पहुंचे और सर्वेयर हरीश दीक्षित को फोन कर मंडी बुलवाया। लेकिन हरीश दीक्षित ने वहां नायब तहसीलदार से कहा कि मैं किसी भी स्थिति में पुराना और घुना चना नहीं पास करूंगा।

दो दिन पहले ही रिजेक्ट कर दिया था चना

सर्वेयर ने बताया कि मालानी का यह चना मंडी में दो दिन पहले ही रिजेक्ट कर दिया गया है, लेकिन उसके बाद भी वो चना उठाकर नहीं ले जा रहे हैं और दबाव बना रहे हैं कि हमारा चना नहीं खरीदोगे तो भी हम यह चना पास करवा लेंगे। नायब तहसीलदार संतोष मंडलोई ने मंडी सचिव को चने की जब्ती की कार्रवाई करने के आदेश दिए गए। जब्ती की कार्रवाई के बाद राजू पटैल (संजीव मालानी का ड्राइवर) ने कहा कि चना मेरा है। जिसके बाद नायब तहसीलदार ने 115 क्विंटल 20 किलो चने की जब्ती राजू पटैल के नाम से बना दी।

जांच में आया था संजीव मालानी का नाम

तीन घंटे चली जांच में राजू पटैल ने चने का वास्तविक मालिक संजीव मालानी को बताया। तहसील कार्यालय से संजीव मालानी को अपने कथन दर्ज कराने के लिए बुलाया गया लेकिन संजीव मालानी उपस्थित नहीं हुआ। नेफेड के सर्वेयर के बयान दर्ज कराए गए। उससे स्पष्ट है कि अमानक चना को मानक किए जाने के लिए उससे सम्पर्क किया गया और दबाव बनाया गया। राजू पटैल ने तहसील में बयान दिया कि वह संजीव मालानी का चना लेकर मंडी गया था। जब तहसीलदार गीताजंली शर्मा ने पूछा कि तुम चना जब्त होने के बाद बनखेड़ी तहसील क्यों नहीं आए। तो राजू पटैल ने कहा कि वो अपने सेठ संजीव मालानी के साथ अनुविभागीय अधिकारी से मिलने पिपरिया गया था।

मामला दर्ज कर लिया है
संजीव मालानी और राजू पटैल पर मामला दर्ज कर लिया गया है । तहसीलदार की जांच के बाद समिति प्रबंधक की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया गया है । उच्चाधिकारियों के निर्देश पर कार्रवाई की जाएगी।
पंकज वाडेकर, टीआई बनखेड़ी
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->