यदि विकल्प शिवराज और दिग्विजय सिंह हों तो किसे चुनेंगे: ONLINE SURVEY

Monday, April 16, 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश के सबसे लोकप्रिय हिंदी न्यूज पोर्टल भोपालसमाचार.कॉम ने ONLINE SURVEY शुरू किया है। जनता से पूछा जा रहा है कि यदि आपके पास सिर्फ 2 ही विकल्प हों, शिवराज सिंह चौहान और दिग्विजय सिंह तो आप इनमें से किसे चुनेंगे। दिनांक 16 अप्रैल 2018 से शुरू हुआ यह सर्वे लगातार 7 दिन चलेगा। इस सर्वे में लोग बढ़चढ़कर भाग ले रहे हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि इसके नतीजे चौंकाने वाले आ सकते हैं। बता दें कि पिछले दिनों नर्मदा परिक्रमा कर लौटे दिग्विजय सिंह ने मप्र की राजनीति में रुचि दिखाई और इसी के साथ मप्र में राजनीति की सारी चालें बदल गईं। इस बीच यह जानना जरूरी है कि आखिर जनता क्या चाहती है। 

शिवराज सिंह की परीक्षा
यह सर्वे सीएम शिवराज सिंह की लोकप्रियता की परीक्षा भी होगी। याद दिला दें कि 2003 में मप्र में भाजपा दिग्विजय सिंह के विरोध के चलते ही सत्ता में आई थी। 2008 और 2013 के चुनावों में भी कई मंचों ने दोहराया गया कि यदि भाजपा को वोट नहीं दिया तो दिग्विजय सिंह आ जाएगा। सीएम शिवराज सिंह सैंकड़ों बार दावा कर चुके हैं कि उनका शासन, दिग्विजय सिंह के शासन से बहुत अच्छा है। पहले मप्र बीमारू राज्य था अब खुशहाल हो गया है। अब देखना यह है कि जनता दोनों के बीच क्या तुलनात्मक अध्ययन कर सकती है। 

दिग्विजय सिंह की दहशत कम हुई या नहीं
यह तो प्रमाणित है कि मप्र के मतदाताओं में दिग्विजय सिंह के नाम की दहशत हुआ करती थी लेकिन इस सर्वे से अब यह भी पता चल सकेगा कि लम्बे सन्यास और नर्मदा परिक्रमा के बाद क्या दिग्विजय सिंह के प्रति नफरत कम हुई है। क्या वो एक बार फिर मप्र का गढ़ जीतने की स्थिति में हैं। कहा जाता है कि मप्र कांग्रेस में दिग्विजय सिंह की पकड़ काफी मजबूत है, लेकिन केवल कार्यकर्ताओं पर पकड़ से चुनाव नहीं जीते जाते। इस सर्वे से यह भी पता चलेगा कि क्या जनता के बीच उनकी पकड़ मजबूत हो रही है। 

वोट कैसे करें
ओनलाइन सर्वे में वोट करने के लिए कृपया नीचे दिए गए दोनों नेताओं में से किसी एक के फोटो पर क्लिक करें। आपका वोट अपने आप दर्ज हो जाएगा। बता दें कि एक व्यक्ति एक ही वोट डाल सकता है परंतु सर्वे खत्म होने से पहले वो अपना वोट बदल भी सकता है। यह पूरी तरह से गोपनीय सर्वे है। आपने किसे वोट किया, किसी भी तकनीक से यह पता नहीं लगाया जा सकता अत: खुलकर वोट करें ताकि दिल्ली में बैठे दिग्गजों तक मप्र की जनता के मन की बात पहुंच सके। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week