सलमान खान शिकार का गुनहगार सिद्ध, 5 साल की जेल | NATIONAL NEWS

05 April 2018

नई दिल्ली। जोधपुर की एक अदालत काला हिरण के शिकार मामले (BlackBuck Poaching Case) में दो दशक पुराने बाद अभिनेता सलमान खान को दोषी करार दिया है। अदालत ने सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू, नीलिमा कोठारी को बरी कर दिया है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री ने 1998 में हुई इस घटना के संबंध में 28 मार्च को मुकदमे की सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था। जोधपुर कोर्ट के फैसला सुनाए जाने के समय सभी आरोपी कलाकार सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम अदालत में मौजूद रहे। सलमान खान के वकील कम सजा के लिए जिरह कर रहे हैं। उनके वकील ने कहा है अगर तीन साल से ज्‍यादा की सजा होती है तो जमानत के लिए ऊपरी अदालत में जाएंगे। सलमान खान को इस मामले में छह साल की सजा हो सकती है। अदालत ने सैफ अली खान, सोनाली, तब्‍बू, नीलम को किया बरी। कोर्ट ने सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाई है। 

अगर ऐसा हुआ तो नहीं मिलेगी उसी वक्त बेल, होगी जेल
जानकार बताते हैं कि आज अगर सलमान खान के खिलाफ 3 साल की जेल का फैसला सजाया जाता है तो उन्हें उसी वक्त बेल मिल जाएगी। अगर उन्हें 5 साल की सजा होती है तो उन्हें कम से कम 1 दिन के लिए जेल में रहना पड़ सकता है। गौरतलब है कि 1 दिन के बाद ही शनिवार और रविवार है। संभव है कि उन्हें ये दोनों दिन भी जेल में बिताने पड़ सकते हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें तीन दिन जेल में बिताने पड़ सकते हैं।

क्या है मामला?
यह घटना ‘हम साथ साथ है’ फिल्म की शूटिंग के दौरान दो अक्टूबर 1998 की है. राजश्री फिल्म्स की फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर काले हिरण का शिकार करने का मामला दर्ज किया गया था. साथ ही इस केस में सलमान को उकसाने के लिए सैफ अली खान, नीलम, तब्बू और सोनाली बेंद्रे का नाम भी शामिल है। सलमान खान वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 और अन्य कलाकार वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 149 (गैरकानूनी जमावड़ा) के तहत आरोपों का सामना कर रहे हैं। इस मामले में दो अन्य आरोपी दुष्यंत सिंह और दिनेश सिंह हैं. हिरण के शिकार के समय दुष्यंत सिंह कथित रूप से सलमान के साथ था जबकि दिनेश सिंह के बारे में कहा जाता है कि वह सलमान खान का सहायक है। कथित तौर पर जब काला हिरण पर गोलियां चलीं तो आवाज सुनकर ग्रामीण दौड़े आए. उन्होंने देखा कि सलमान खान जिप्सी चला रहे थे और हिरण के शव को छोड़कर तुरंत ही घटनास्थल से वे लोग फरार हो गये।

क्या है सरकारी वकील का कहना?
सरकारी वकील भवानी सिंह भाटी ने कहा कि उस रात सभी कलाकार जिप्सी कार में थे, सलमान खान वाहन चला रहे थे. हिरणों का झुंड देखने पर उन्होंने गोली चलाई और उनमें से दो हिरण मार दिये थे.
सरकारी वकील का कहना है कि जब लोगों ने उन्हें देखा और उनका पीछा किया तो ये कलाकर मृत हिरणों को मौके पर छोड़कर भाग खड़े हुए. उन्होंने कहा कि उन लोगों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं.

सलमान खान के वकील का पक्ष
इन आरोपों से इनकार करते हुए सलमान के वकील एच.एम. सारस्वत ने कहा कि अभियोजन पक्ष की कहानी में कई खामियां हैं. उन्होंने यह भी दलील दी कि अभियोजन यह साबित करने में भी विफल रहा है कि काले हिरण बंदूक की गोली से ही मारे गये थे और ऐसी स्थिति में इस तरह की जांच पर भरोसा नहीं किया जा सकता।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week