भाग्यशाली लोग ऐसे करते हैं अपने दिन की शुरुआत | JYOTISH

09 April 2018

कहते हैं कि अगर दिन की शुरूआत सही हो तो आपका पूरा दिन बेहद अच्छा गुजरता है। ऐसे में अगर आप सुबह के समय अपने इष्ट देव का स्मरण करें तो इससे अच्छा कुछ नहीं हो सकता। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि आप घर पर ही अपने इष्ट देव का स्मरण किस प्रकार करें-
जहां तक हो सके, सूर्योदय से पहले उठें और उठते समय दोनों पैरों को जमीन पर एक साथ रखें। उसी समय अपने ईष्ट देव का स्मरण करें। इस समय गायत्री मंत्र का उच्चारण करें। इससे घर के वास्तु दोष भी नष्ट हो जाते हैं।

पूजा-पाठ के श्रीमद भगवद गीता के एक अध्याय और रामचरितमानस के कम से कम सात चौपाइयों का अर्थ सहित अवश्य पाठ करें। इससे मानसिक शांति मिलती है। घर में सुख-शांति का वास होता है। वहीं दैनिक पूजा में तुलसी का पूजन करना भी काफी फलदायी माना जाता है, इसलिए घर में तुलसी और आक का पौधा अवश्य लगाएं।

यूं तो प्रभु को स्मरण करने का कोई समय निर्धारित नहीं है। जब चाहे उनको याद करें। मगर सुबह की पूजा स्वयं के लिए भी अच्छी होती है इसलिए स्नान और पूजन सुबह सात से आठ बजे के बीच कर लें। यदि आप सूर्योदय से कुछ समय पहले उठने का नियम पालन कर सकते हैं तो यह सर्वथा उत्तम होगा। भगवान सूर्य की विशेष अनुकंपा प्राप्त होगी और समाज में आपकी कीर्ति उसी प्रकार स्थाई रूप से फेलेगी जैसे भगवान सूर्य का स्थायित्व होता है। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week