खबर का असर: भोपाल में बलात्कारी बाबा का बोर्ड उतारा | BHOPAL NEWS

25 April 2018

भोपाल। bhopalsamachar.com की खबर का तुरंत असर दिखाई दिया है। आसाराम के नाम पर दर्ज सरकारी चौराहों और बस स्टॉप से उनके नाम का बोर्ड हटाना शुरू हो गया है। नगरनिगम भोपाल ने सबसे पहले उस बोर्ड को हटाया जिसका फोटो bhopalsamachar.com ने प्रकाशित किया था। बता दें कि इस मामले में ट्वीटर पर अक्षय हुंका के सवाल और सीएम शिवराज सिंह के जवाब के तुरंत बाद bhopalsamachar.com ने सबसे पहले इस खबर को लाइव किया था। दोपहर आते आते यह खबर देश भर की मीडिया में सुर्खियां बन गई थी। (मप्र में है बलात्कारी बाबा के नाम पर चौराहा)

सबसे पहले यह मामला आबिद मो खान ने उठाया था। उन्होंने 22 अप्रैल को इस पर आपत्ति दर्ज कराई थी लेकिन आसाराम को सजा सुनाए जाने के बाद भोपाल गैस पीड़ितों के लिए काम करने वाली सामाजिक कार्यकर्ता रचना ढींगरा ने यह मामला उठाया है। बेरोजगार सेना के संयोजक अक्षय हुंका ने इस मामले को सीएम शिवराज सिंह के पास तक पहुंचाया। सीएम शिवराज सिंह ने तत्काल ऐलान किया है कि वो ऐसे सभी स्थानों के नाम बदल देंगे। 

सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीटर पर जवाब देते हुए लिखा है कि 'हमारे देश में संविधान, क़ानून, और जनभावना से ऊपर कुछ भी नहीं हैं, यह वह देश है जहाँ पर औरंगज़ेब रोड का भी नाम बदल दिया गया है। जल्द ही इस मामले पर भी उचित कार्यवाही करेंगे।' बता दें कि आसाराम के प्रमुख भक्तों में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी एवं सीएम शिवराज सिंह का नाम आता है। मामला दर्ज होने के बाद आसाराम मप्र में आकर छिप गया था और यहीं से उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी। 

अभी तो पिक्चर शुरू हुई है
दरअसल, नगरनिगम भोपाल ने अभी केवल वह बोर्ड उतारा है जिसका फोटो भोपाल समाचार ने प्रकाशित किया था। इसके अलावा भोपाल एवं इंदौर में कुछ चौराहे और स्थान हैं जिनका नाम आसाराम के नाम पर रखा गया है। उनके बोर्ड उतारे जाना और नया नामकरण किया जाना अभी बाकी है। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week