Loading...

मप्र के 5 जिलों में जानलेवा हुई धूप, अलर्ट जारी | MP NEWS

भोपाल (MP WEATHER REPORT)। मौसम तेवर बदल रहा है। आसमान से आग बरस रही है। रविवार को एक बार फिर रिकॉर्ड टूट गया। मौसम विभाग ने होशंगाबाद समेत प्रदेश के पांच जिले खंडवा, राजगढ़, शाजापुर और दमोह में हीट स्ट्रोक (लू) का अलर्ट जारी करते हुए लोगों को तेज धूप से बचाव करने की सलाह दी है। रविवार को प्रदेश में सबसे अधिक तापमान रायसेन, कटनी और शिवपुरी में 44 डिग्री सेल्सियस रहा।

38 साल बाद सबसे गर्म रही भोपाल की रात
राजधानी भोपाल में गर्मी के तीखे तेवर बरकरार हैं। रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 42.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक है। उधर शनिवार-रविवार की दरमियानी रात का तापमान 29.7 डिग्रीसे. रिकार्ड हुआ, जो कि सामान्य से 6 डिग्री सेल्सियस अधिक है। इसके पूर्व अप्रैल 1980 में न्यूनतम तापमान 29.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था।

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक रविवार को आसमान में आंशिक बादलों की मौजूदगी के साथ ही करीब 36 किमी. की रफ्तार से पश्चिमी-उत्तर-पश्चिमी हवा चलने के कारण गर्मी से आंशिक राहत मिली लेकिन बादलों के कारण उमस हावी हो गई। साथ ही तापमान बढ़ने से रात में बेचैनी बढ़ गई है।

महाकोशल-विंध्य में आंधी के बाद बूंदाबांदी
महाकोशल-विंध्य के जिलों में सुबह से चिलचिलाने वाली धूप के बाद दमोह, नरसिंहपुर, कटनी, शहडोल, डिंडौरी में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश हुई। वहीं अनूपपुर, रीवा, सतना में बादल छाए रहे। जबलपुर में रविवार को भी तेज हवाओं ने शहर को सहमा दिया और हल्की बूंदाबांदी भी हुई। तेज हवा से कई जगह पेड़ धराशायी हो गए। कुछ दुकानों व घरों के छप्पर उड़ गए।

ग्वालियर में गर्मी ने फिर दिखाए अपने तेवर
शनिवार शाम को ग्वालियर में चली तेज आंधी और वर्षा के बाद रविवार को गर्मी ने वापस अपनी राह पकड़ ली। वर्षा के बाद साफ आसमान और नमी में इजाफे के बीच निखरी चटक धूप से लोग बेहाल रहे। अधिकतम पारा 41.5 डिसे पर पहुंच गया। अलबत्ता रात की गर्मी से राहत रही। मौसम विज्ञानियों के अनुसार शनिवार को ओवरहीटिंग के कारण मौसम में आए बदलाव का असर रात को ही खत्म हो गया था। सुबह होते-होते सिर्फ ऊंचाई वाले हल्के बादल रह गए थे। आसमान साफ होने का पहला असर न्यूनतम तापमान पर पड़ा।

2 बार भविष्यवाणी गलत साबित हुई
प्रादेशिक मौसम कार्यालय ने शनिवार की दोपहर 1.27 बजे जो बुलेटिन जारी किया था, उसमें मौसम शुष्क रहने के आसार जताए थे। इस अनुमान से उलट शहर में तेज आंधी चली और जोरदार वर्षा हुई। वहीं रविवार को दोपहर 12.58 बजे जारी बुलेटिन में ग्वालियर व अन्य जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें गिरने की बात कही थी। इस भविष्यवाणी के विपरीत रविवार को दिन भर चटक धूप निखरी रही।