PEB पटवारी परीक्षा में नॉर्मलाइजेशन पद्धति का विरोध, पुलिस का लाठीचार्ज | GWALIOR NEWS

Wednesday, March 28, 2018

ग्वालियर। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री के बंगले पर मंगलवार की रात प्रदर्शन करने पहुंचे छात्रों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। छात्र जबरिया बंगले में घुसने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस ने जब उनको रोकने का प्रयास किया तो दोनों पक्ष आपस में उलझ गए। छात्रों का कहना था कि वे अपना विरोध दर्ज कराने जा रहे हैं। गुस्साए छात्रों ने पुलिस कर्मियों से धक्कामुक्की की और जब पुलिस ने लाठियां चमकाई तो छात्रों ने पथराव करना शुरू कर दिया। उसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए छात्रों को लगभग डेढ़ सौ मीटर तक खदेड़ दिया। 

याद रहे प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं का रिजल्ट नॉर्मलाइजेशन पद्धति से घोषित किए जाने के विरोध में एक सप्ताह से थाटीपुर पर धरना दे रहे हैं। इस दौरान पुलिस ने कुछ छात्रों को गिरफ्तार भी किया है। प्रदर्शन कर रहे एक छात्र की तबीयत भी खराब होने की जानकारी है। 

छात्रों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा
शाम को आठ बजे करीब छात्र मंत्री के बंगले के पास पहुंचे। पहले से सूचना होने के कारण यहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात था। सीएसपी देवेंद्र सिंह कुशवाह ने छात्रों को रास्ते में रोकने का प्रयास किया। इन्हीं छात्रों के साथ एक बीमार छात्रा हिमांचली मिश्रा भी साथ थी। पुलिस ने बीमार छात्रा को गाड़ी मंगाकर अस्पताल भिजवाने का प्रयास किया तो इस पर छात्र बिफर गए और उनका विवाद बढ़ गया। छात्रों ने मंत्री के बंगले का घेराव करने के साथ हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस ने छात्रों को बंगले के अंदर जाने से रोका। छात्रों को उग्र होता देख पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए खदेड़ दिया। पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने से गुस्साए छात्रों ने भी पुलिस पर पथराव किया। छात्रों को दौड़ा-दौड़ाकर पुलिस ने पीटा और लाठियां बरसाई। पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर डीआरपी लाइन भेज दिया है। 

बेहोश हुई छात्रा 
पुलिस ने हम पर किया लाठीचार्ज, बेहोश छात्रा को अस्पताल पहुंचाने के लिए नहीं दी एंबुलेंस। वर्षा यादव नामक छात्रा का कहना है कि वह लोग शांतिपूर्वक अपना विरोध प्रदर्शन करने मंत्री के बंगले पर जा रहे थे। पुलिस ने बीच में रोक लिया। एक छात्रा अंजलि की तबीयत खराब होने पर पुलिस एंबुलेंस तक उपलब्ध नहीं कराई और उसे अपने साथ ले गई। छात्रा की मां को भी यह नहीं बताया जा रहा कि उसे वह कहां ले जाया गया है। पुलिस ने बेगुनाह छात्र-छात्राओं पर लाठीचार्ज किया है,जिससे कुछ छात्र घायल हुए हैं। 

पथराव करने वाले छात्रों पर FIR 12 हिरासत में 
सीएसपी देवेंद्र सिंह कुशवाह के अनुसार उच्च शिक्षा मंत्री के बंगले पर जा रहे छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया था। उन्होंने वाहनों पर पथराव करके कांच फोड़ दिए। नियंत्रित करने के लिए बल प्रयोग किया गया था। थाटीपुर में भी उन्होंने चक्काजाम किया था। 12 छात्रों को हिरासत में लिया गया है, पथराव और चक्का जाम करने वालों के खिलाफ थाटीपुर और विवि थाने में एफआईआर दर्ज की जा रही है। 

कांग्रेस नेता बोले-लाठीचार्ज शर्मनाक, मंत्री को छात्रों से करना थी बात 
छात्रों पर लाठीचार्ज की घटना के बाद कांग्रेस नेता मुन्नालाल गोयल अस्पताल पहुंचे और यहां पर छात्रा हिमांचली मिश्रा को भर्ती करवाया। श्री गोयल का कहना है डॉक्टर उसका इलाज नहीं कर रहे थे। श्री गोयल का कहना है कि छात्राें पर लाठीचार्ज अलोकतांत्रिक और शर्मनाक है। इसके बाद वह यूनिवर्सिटी और थाटीपुर थाने पहुंचे जहां पर छात्रों को पुलिस हिरासत में रखा गया है। उधर पूर्व विधायक प्रद्युम्नसिंह तोमर ने छात्रों के पास पहुंचकर अधिकारियों से बात की। श्री तोमर का कहना था कि प्रदर्शनकारी छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया तो वे आंदोलन करेंगे। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week