पढ़िए PNB घोटाले का मनमोहन और मोदी कनेक्शन: BANK के पूर्व डायरेक्टर का खुलासा | NATIONAL NEWS

16 February 2018

नई दिल्ली। I had sent a dissent note against #GitanjaliGems to the Govt and RBI in 2013 but to no avail, I was directed that this loan has to be approved, I was being pressurized so I resigned: Dinesh Dubey, former Allahabad Bank Director @ANI पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में गीतांजलि ग्रुप को गलत तरीके से लोन देने के खिलाफ आवाज उठाने वाले इलाहाबाद बैंक के पूर्व डायरेक्टर दिनेश दूबे ने दावा किया है कि यह घोटाला यूपीए सरकार के दौर से शुरू हुआ है और एनडीए सरकार में कई गुना अधिक बढ़ गया। 

मैने आवाज उठाई तो इस्तफा मांग लिया

दूबे ने कहा, 'मैंने गीतांजलि जेम्स के खिलाफ 2013 में सरकार और RBI को डिसेन्ट नोट भेजा था पर मुझे आदेश दिया गया था कि इस लोन को अप्रूव करना है। मुझ पर दबाव डाला गया और मैंने इस्तीफा दे दिया' दूबे ने यह भी कहा कि यूपीए सरकार से चला आ रहा घोटाला एनडीए सरकार में 10 गुना, 50 गुना बढ़ गया। उन्होंने कहा कि शिकायत करने पर उन्हें वित्त सचिव ने ऊपरी दबाव की बात कहकर स्वतंत्र निदेशक पद से इस्तीफा देने को कहा था। दिनेश दूबे ने मीडिया के सामने कहा कि वह जांच एजेंसियों को सहयोग देने को तैयार हैं। दूबे पत्रकार हैं और 2012 में उन्हें बैंक का स्वतंत्र निदेशक बनाया गया था। 

मैने दूबे से कभी बात नहीं की: रेवेन्यू सेक्रटरी

उधर, दिनेश दूबे के दावों कोलेकर रेवेन्यू सेक्रटरी राजीव टकरु ने कहा, 'मैं इस इंसान से सिर्फ एक बार मिला हूं। वह 2013 में मेरे कार्यालय इस्तीफा देने आए थे। उनके इस्तीफे के वजह यह थी कि वह किसी चीज से नाखुश थे। मैंने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया था। मैंने उनसे कभी बात नहीं की।' 

पीएनबी में 8 और अधिकारी निलंबित 

पीएनबी घोटाले में 8 और अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। इनमें एक अधिकारी महाप्रबंधक स्तर का है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि इस घोटाले में शामिल होने के संदेह में इन अधिकारियों को निलंबित किया गया है। बुधवार को यह घोटाला सामने आने के बाद बैंक ने 10 कर्मचारियों को निलंबित किया था। इस घोटाले में हीरे के आभूषण डिजाइनर नीरव मोदी ने पीएनबी की मुंबई शाखा से फर्जी साख पत्र हासिल किए और अन्य भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं से कर्ज हासिल किया। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->