हिंदू विरोधी पाकिस्तान में शान से रहता है यह ठाकुर परिवार | PAKISTAN NEWS

18 February 2018

पीयूष सिंह राजपूत। पाकिस्तान यूं तो बॉर्डर पर नापाक हरकतें कर हमें ललकारता है पर अपने ही देश में एक राजपूत परिवार के सामने उसकी एक नहीं चलती है। आलम ये है कि आज भी इस शाही परिवार से लोग खौफ़ खाते हैं। इनकी आनबान और शान के पीछे एक बेहद रोचक कहानी है, जो आज हम आपको बताने वाले हैं। देश के बंटवारे के बाद कई रियासतें पाकिस्तान के हिस्से चली गई। जब रियासतें पाकिस्तान में गई तो राजाओं का जाना लाजिमी था। 

इन्हीं रियासतों में से एक है अमरकोट रियासत। यह रियासत अब पाकिस्तान में है। रियासत के राजा है करणी सिंह सोढ़ा। सोढ़ा अक्सर पाकिस्तान के कई राजनीतिक कार्यक्रमों में नजर आते रहते हैं। सोशल मीडिया पर भी उनका अच्छा खासा जलवा है। फोटो डालने से लेकर अपनी बाते वो इस माध्यम से अपने लोगों तक पहुंचाते रहते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि पाकिस्तान में एक हिंदू परिवार ऐसा जलवा आखिर कैसे?

पाक राजनीति में अहम भूमिका
तो आपको बता दें कि करणी सिंह हमीर सिंह सोढा के बेटे और अमरकोट रियासत के राजा है। हमीर सिंह का परिवार पाक राजनीति में अहम जगह रखता है। हमीर सिंह के पिता राणा चंद्र सिंह अमरकोट के शासक परिवार से थे। चंद्र सिंह सात बार सांसद और केंद्रीय मंत्री भी रहे। वे पूर्व पीएम जुल्फिकार अली भुट्टो के करीबी मित्र थे। 
पाकिस्तान में लहराया ऊं और त्रिशूल का झंडा
पीपीपी से अलग होने के बाद राणा चंद्र सिंह यानी करणी सिंह के दादा ने पाकिस्तान हिंदू पार्टी का गठन किया था, जिसका झंडा केसरिया रंग का था। उसमें ओम और त्रिशूल अंकित थे। उनका 2009 में निधन हो गया।

मुसलमान करते हैं रक्षा
करणी सिंह जहां भी जाते हैं उनके साथ बंदूकधारी बॉडीगार्ड भी उनकी सुरक्षा में मौजूद रहते हैं। उनके सुरक्षा में लगे ज्यादातर गार्ड मुसलमान हैं। उनके साथ मौजूद बॉडीगार्ड हमेशा एके 47 राइफल और शॉटगन साथ रखते हैं। प्रिंस जीप और लग्जरी गाड़ियों में भी घूमते दिखते हैं। पाकिस्तान के मुसलमान मानते हैं कि हमीर सिंह का परिवार राजा पुरु (पारस) के वंशज हैं। इसलिए वे आज भी उनकी सुरक्षा के लिए हमेशा खड़े रहते हैं।

राजस्थान में हुई करणी सिंह की शादी
20 फरवरी 2015 को करणी सिंह की शादी राजस्थान के शाही परिवार की बेटी पद्मनी से हुई थी जो कानोता (जयपुर) के ठाकुर मानसिंह की बेटी हैं। बरात पाकिस्तान की अमरकोट रियासत से भारत आई थी। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts