लेडी किलर ने लगाई गुहार: मुझे जल्दी से फांसी पर चढ़ा दो | CRIME NEWS

20 February 2018

इंदौर। सजा-ए-मौत प्राप्त अपराधी यह जानते हुए भी कि उसने अपराध किया है और उसका अपराध प्रमाणित हो गया है, माफी की मांग करता है। भारत में फांसी की सजा प्राप्त अपराधियों को अपील के अंतिम स्तर तक अवसर दिए जाते हैं परंतु मध्यप्रदेश की एकमात्र महिला कैदी जिसे सजा-ए-मौत सुनाई गई है, अब जेल, अपील और माफी से परेशान हो गई है। वो चाहती है कि उसकी सजा पर तत्काल अमल किया जाए। उसने पत्र लिखकर सजा-ए-मौत पर अमल करने की मांग की है। 

27 साल की ब्यूटी किलर ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर श्रीनगर क्षेत्र में एक ही परिवार की तीन महिलाओं की दिनदहाड़े हत्या कर दी थी, जिसके बाद सत्र न्यायालय ने तीनों आरोपियों को तीन-तीन बार फांसी की सजा सुनाई थी। इन दिनों नेहा इंदौर की जिला जेल में अपनी मौत की सजा पर अंतिम फैसले का इंतजार कर रही है क्योंकि निचली अदालत के फैसले को हाईकोर्ट ने भी बरकरार रखा था, इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने फांसी पर रोक लगा दी है, जिस पर अंतिम सुनवाई होनी है।

क्या है मामला
19 जून 2011 को हुए इस हत्याकांड की मास्टर माइंड 27 वर्षीय नेहा वर्मा है, जो उस वक्त बतौर एजेंट बीमा कंपनी में काम करती थी, राहुल उसका प्रेमी था, जिससे वह शादी करना चाहती थी, लेकिन वह अपनी शादीशुदा जिंदगी को ऐशो-आराम से बिताना चाहती थी, लिहाजा उसने लूट के इरादे से यह खौफनाक साजिश रची और एक ही परिवार की तीन महिलाओं की दिनदहाड़े हत्या कर दी। जेल में बंद नेहा प्रदेश की एकमात्र महिला कैदी है जिसे फांसी की सजा सुनाई गई है।

19 जून 2011 की शाम शहर के व्यसततम कॉलोनी श्रीनगर में हुए इस ट्रिपल मर्डर ने पूरे शहर को हिलाकर रख दिया था। ब्यूटी किलर की साजिश का शिकार बीई तृतीय वर्ष की छात्रा अश्लेषा देशपांडे, उसकी मां मेघा व उसकी नानी रोहिणी फणसे हुई थी। जिनकी बेरहमी से हत्या की गई थी। घटना के कुछ दिनों बाद पुलिस ने नेहा वर्मा, उसके प्रेमी राहुल उर्फ गोविंदा चौधरी और उसके दोस्त मनोज अटोदे को गिरफ्तार कर लिया था, जिनकी मदद से वारदात को अंजाम दिया गया था।

ट्रिपल मर्डर की मास्टरमाइंड नेहा ने मेघा देशपांडे को शहर के एक शॉपिंग मॉल में सोने के जेवरातों से लदा देखा था, इसके बाद नेहा ने मेघा से परिचय बढ़ाया, चूंकि मेघा मल्टीलेवल मार्केटिंग (एमएलएम) के जरिये एक सौंदर्य प्रसाधन कंपनी के उत्पाद बेचती थी, जिससे जुड़ने की इच्छा नेहा ने जतायी और इस बहाने उसका मोबाइल नंबर हासिल कर लिया।

इसके बाद वह 19 जून को अपने प्रेमी और उसके दोस्त के साथ मेघा के श्रीनगर मेन स्थित घर पहुंची, जहां नशे में धुत दोनों युवकों ने मेघा, उसकी मां रोहिणी और उसकी बेटी अश्लेषा की गोली मारकर व धारदार हथियारों से हत्या कर दी थी और उनके घर से डेढ़ लाख रुपये का माल लूटकर फरार हो गये थे। ब्यूटी किलर अति महत्वाकांक्षी थी जो एक वैन चालक की बेटी है नेहा टेलीमार्केटिंग के काम के अलावा एक स्पॉ सेंटर से ब्यूटीशियन के रूप में भी जुड़ी थी।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts